Home स्वास्थ्य एलर्जी से बचने के उपाय – Allergy reasons and cure in hindi

एलर्जी से बचने के उपाय – Allergy reasons and cure in hindi

SHARE

एलर्जी क्या है और इसके बचाव और उपचार

Know Allergy reasons and cure in hindi – आज के समय में  Allergy एक बड़ी समस्या है और  आज के बदलते खानपान के चलते कई लोग इसके शिकार भी है और परेशान भी और जब हम काफी चीजों से  Allergy होती है तो हमारी कार्यक्षमता पर भी इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है जिसके कारण हम अपने दैनिक कार्य भी सही से नहीं कर पाते चलिए इसके बारे में कुछ और बात करते है –

एलर्जी ( Allergy) क्या है –  ” वैज्ञानिको के अनुसार विजातीय पदार्थो की शरीर में अस्वीकार्यता ” और अगर सरल भाषा में बात करें तो व्यक्ति विशेष में हमारे पर्यावरण में मौजूद चीजों के लिए अलग अलग संवेदनशीलता होती है जिसके चलते कुछ चीजों के लिए हमारा शरीर प्रतिक्रिया करता है | मॉडर्न चिकित्सा के अनुसार  Allergy के मुख्य कारण है – घरेलू कचरे के कीट ,फफूंद ,पालतू पशुओं के बाल ,नट्स ,फल ,गाय के दूध मुर्गी के अंडे ,गेंहू तथा इसके अलावा बहुत सारी दवाईयां भी है जिनसे किसी व्यक्ति विशेष को  Allergy हो सकती है अगर उनमे मौजूद तत्वों के लिए आपका शरीर अधिक संवेदनशील होता है |

Allergy reasons and cure in hindi
Allergy reasons and cure in hindi

 

एलर्जी ( Allergy) के लक्षण – अधिक छींके आना ,साँस लेते समय आवाज होना , होंट और चेहरों पर सूजन ,खुजली और चक्कर आना ,जी घबराना और पेट में मरोड़े आदि मुख्य रूप से एलर्जी ( Allergy) के लक्षण होते है |

एलर्जी ( Allergy) के लिए टेस्ट – अगर आपके साथ ऊपर दिए गये कुछ लक्षण है या आपको एलर्जी ( Allergy) की सम्भावना नजर आती है तो इसे हल्के में नहीं लें बल्कि आप इसके लिए मानक लैब या अस्पताल में test करवा लें ताकि आप जान सके कि आपको किस किस तत्व से एलर्जी ( Allergy) है और आसानी से उन चीजों को इग्नोर कर अपना बचाव कर पायें क्योंकि एलर्जी ( Allergy) के लिए सर्वोत्तम उपचार इसका बचाव ही है |

एलर्जी ( Allergy) के बचाव के तरीके –

  1. सबसे पहले तो जो सामान्य चीज़े आप कर सकते है वो है घर में पालतू पशुओ और जानवरों के करीब जाने से बचे अगर आपको उनके बालों से एलर्जी ( Allergy)  है और उसके बाद घर को साफ़ सुथरा रखने के साथ साथ उपयुक्त कीटनाशकों का भी प्रयोग करें ताकि कचरे वाले मछर पैदा नहीं हो |
  2. घर में वूलन का कारपेट इस्तेमाल नहीं करें और teddybear या अन्य soft toys को साफ़ रखें  |
  3. वूलन के blanket के बजाय market में मौजूद ‘एक्रिलिक’ रजाई और सिंथेटिक तकियों का इस्तेमाल करे |
  4. पालतू पशुओं को अपने लिविंग रूम से दूर ही रखें |
  5. जानवरों और पालतू पशुओं के बारे में ध्यान रखे कि उन्हें नियमित रूप से नहलाएं और उनके बाल अधिक बड़े नहीं होने दें क्योंकि उनके बालों में धुल मिटटी फंस जाने के कारण अगर आप उनके सम्पर्क में आते है तो आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है |
  6. घर में proper ventilation की व्यवस्था रखें |
  7. अपनी कबर्ड में सूखे और साफ़ कपडे ही रखें क्योंकि मैले या नम कपड़ों से फफूंद की समस्या हो सकती है इसलिए इसका ध्यान रखें |
  8. जब आप एलर्जी ( Allergy) के लिए टेस्ट करवा लेते है तो एक बार एलर्जी ( Allergy) के कारक चिन्हित हो जाने की दशा में खानपान का विशेष ध्यान रखें अगर आप बाजार से कोई चीज़ खरीद कर खाते है पीते है तो उस पर उसमे मौजूद तत्व अंकित होते है इसलिए एक बार उनका ध्यान रखकर ही कोई चीज़ खाएं |

ये ‘  Allergy reasons and cure in hindi ’ पोस्ट आपको कैसे लगी इस बारे में हमे अपने विचार नीचे कमेन्ट के माध्यम से अवश्य दे  । हमारी पोस्ट को ईमेल से पाने के लिए आप हमारा फ्री ईमेल सब्सक्रिप्शन ले सकते है ।  NEXT

यदि आपके पास Hindi में कोई Hindi article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया [email protected] हमे  E-mail करें पसंद आने पर हम उसे आपके नाम के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे..