Home स्वास्थ्य body clock (बॉडी क्लॉक ) के बारे के जानिए

body clock (बॉडी क्लॉक ) के बारे के जानिए

SHARE

वैसे यह सबसे रोचक विषय है जिस पर हम अभी बात कर रहे है और आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि हम अपनी जिन्दगी (life) तीन तरह के क्लॉक (clock ) के जरिये सही ढंग से जी पाते है और उसी से हमारा डेली रूटीन (daily routine) प्रभावित होता है और हम अपनी दिनचर्या (daily life) को प्रभावी तरीके से मैनेज कर पाते है |

Know about body clock in hindi

तो तीन तरह की क्लॉक (clock ) है जिनके बारे में हम बात कर सकते है उनमे से एक है यूनिवर्सल क्लॉक (universal clock ) और वो है सूर्योदय और सूर्यास्त और यह सार्वभौमिक और सर्वमान्य घड़ी है और दूसरी की अगर हम बात करते है वो है सेल्फ क्लॉक (self clock ) यानि कि हम कब उठते है और हम कब सोते है क्योंकि हम अपना दिन तभी शुरू करते है जब हम नींद से जागते है तो हमारे लिए वही शुरुआत होती है और जब हम सो जाते है तो वही फिनिश लाइन है जन्हा हमारा दिन खत्म हो जाता है | तीसरी और सबसे महत्वपूर्ण है हमारी बॉडी क्लॉक (body clock ) और यह सबसे महत्वपूर्ण है क्योंकि हमारे शरीर के सारे अंगो के काम करने का आराम करने का तरीका और समय खास होता है और अपना अपना स्वाभाव होता है और हम देरी से उठकर या फिर दिनचर्या को अलग तरीके से जी कर इसमें बदलाव कर देते है जिसकी वजह से कई तरह की समस्यायों और बीमारियों का हमे सामना करना पड़ता है तो चाहिए बॉडी क्लॉक (clock ) के बारे में कुछ और महत्वपूर्ण बात (important facts) करते है –

रात 9 से 11 बजे / 9 PM to 11 PM – हमारे शरीर (Body) के कुछ जरुरी कामों में से यह वो समय होता है जब हमारे शरीर के एंटीबाडी सिस्टम (Antibody system) से अनचाहे और विषैले रसायन बाहर निकलते है इसलिए जरुरी है कि यह वाला वो समय है जब हमे अधिक सक्रिय शारीरिक गतिविधियाँ करने से बचना चाहिए इसलिए इस समय में की गयी शारीरिक गतिविधि आपके शरीर की क्लॉक (clock ) पर गलत असर करती है इसलिए इस समय आपकी बॉडी को सबसे रिलैक्स वाली स्थिति में होना जरुरी है |

रात 11 से सुबह 1 बजे/ 11 PM to 1 AM – वैसे यह वो समय होता है जब हमे सबसे गहरी और अच्छी वाली नींद आती है और इस समय हमारा लीवर जो है वो टोक्सीकेशन करता है और इस क्रिया के लिए सबसे अच्छा समय होता है हमारी गहरी नींद वाला समय इसलिए अगर संभव हो इस समय तक आप देर रात (Late night) तक जागे नहीं नहीं क्योंकि नींद के लिए सबसे उपयुक्त समय यही होता है |

सुबह 1 से 3 बजे / 1 AM to 3 AM– इस समय हमारा पित्त जो है वो टोक्सीकेशन  प्रक्रिया करता है और इस क्रिया के लिए भी यह समय आदर्श होता है जब हम सो रहे होते है |

सुबह 9 से 5 बजे / 9 AM to 5 PM – फेफड़ो के डी-टोक्सीटेशन  के लिए यह समय होता है और इस समय कुछ लोगो को कफ और खांसी की शिकायत भी देखने को मिलती है जबकि डी-टोक्सीकेशन  का ही यह हिस्सा होता है इसलिए किसी भी दवाई के उपयोग से बचे क्योंकि इस समय की आपकी यह समस्या सामान्य होती है और अगर आप मेडिकल निदान (Medical Cure) को देखते है तो आप इस प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न कर रहे होते है |

सुबह 5 से 7 बजे / 5 AM to 7 AM – यह आपकी बड़ी आंत के  डी-टोक्सीकेशन  का समय होता है और इस समय आपकी सारी आंते खाली होती है |

सुबह 7 से 9 बजे / 7 AM to 9 AM– यह वो आदर्श समय (Ideal time) होता है जबकि छोटी आंत पोषक तत्वों को ग्रहण करने के लिए अपनी आदर्श स्थिति में होती है इसलिये जानकार कहते है यह समय नाश्ते (Breakfast) के लिए सबसे उपयुक्त समय होता है इसलिए चाहे जो जाये इस समय का पूरा पूरा फायदा (benefits) उठायें और नाश्ता जरुर से करें और अधिकतम सुबह 10 बजे तक नाश्ता (Breakfast) जरुर से कर लें |

यह कुछ hindi में जानकारी है जो आपके बॉडी क्लॉक (body clock ) या biological clock

body clock hindi
body clock hindi

को बेहतर करने में आपकी मदद कर सकती है अपने किसी सवाल या सलाह के लिए आप नीचे कमेन्ट कर सकते है साथ ही हमारी अपडेट hindi में पाने के लिए आप  हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है |Image source