Home Banking Knowledge बायोमेट्रिक सिस्टम क्या वाकई सुरक्षित है ?

बायोमेट्रिक सिस्टम क्या वाकई सुरक्षित है ?

SHARE

Biometric System के बारे में करीब करीब हमने सबने सुना है और थोडा बहुत इसके बारे में हमे आईडिया भी है कि यह किस तरह से काम करता है क्योंकि जब से आधार कार्ड बनने शुरू हुए है ना चाहते हुए भी मौटे तौर पर हमने जान लिया है कि बायोमेट्रिक सिस्टम क्या है और यह कैसे काम करता है फिर भी अगर आप इसके बारे में नहीं जानते है या कम जानते है तो यह पोस्ट आपके लिए ही है तो चलिए थोडा और बेहतर तरीके से इस बारे में बारे में बात करते है कि यह सिस्टम क्या है और कैसे काम करता है –

Biometric System details in hindi

तकनीक की भाषा में बात करें तो Biometric System असल में एक इस तरह की व्यवस्था है जिसमें किसी व्यक्ति की पहचान को पुख्ता करने के लिए शरीर के उन बायोलॉजिकल चीजो का सहारा लिया जाता है जो हर व्यक्ति में एक जैसी नहीं होती | उदारहण के लिए अगर आपका बैंक में खाता है और आप चेक का लेन देन के लिए इस्तेमाल करते है तो सम्भव है कि कोई किसी भी तरीके से आपका चेक हासिल कर ले और बड़ी सफाई से आपका सिग्नेचर कॉपी करके वह बैंक से आपके खाते से पैसे निकाल सकता है | हालाँकि यह मुश्किल तो है लेकिन फिर भी आप जरा सोचिये एक तरह से है खामी तो है जिसके बारे में आपको बहुत अधिक सावधानी रखनी होती है क्योंकि ऐसा बहुत होते देखा गया है कि लोगो के साथ चेक के द्वारा होने वाली धोखाबाजी में इस तरह के तरीके ही अपनाए जाते है | लेकिन अगर हम  Biometric System की बात करते है तो इसमें लेन देन या जिस भी विभाग में इस तरह का system इस्तेमाल में लाया जाता है वंहा व्यक्ति की पहचान के लिए फिंगरप्रिंट , आँखों का रेटिना या किसी अन्य तरीके के द्वारा व्यक्ति की पहचान की जाती है | इस system के इस्तेमाल से व्यक्ति की पहचान करना बाकि दूसरे तरीकों की अपेक्षा कंही अधिक सुरक्षित है |

Biometric System details in hindi
Biometric System details in hindi

क्यों है सुरक्षित बायोमेट्रिक सिस्टम – असल में होता है कि अगर इस तरह के सिस्टम में व्यक्ति के उन अंगो की सरंचना को आधार माना जाता है जो किसी भी दो मनुष्य के एक जैसे नहीं होते उदाहरण के तौर पर अगर हम फिंगरप्रिंट की बात करें तो “ वह किन्ही भी दो व्यक्तियों में एक जैसे नहीं हो सकते “ इसलिए पहचान प्रमाणित करने के लिए यह तरीका बेहद कामयाब है | अभी क्रेडिट , कार्ड और ऑनलाइन ठगी और दूसरे तरीकों से होने वाली धोखाधड़ी को काम करने के लिये भारत सरकार ने भी व्यापक जो कदम उठाये है उसमे एक यह भी है कि उन्होंने banks को इस तरह का सिस्टम लागू करने को और लोगो को उसके प्रयोग को जागरूक करने के लिए advise किया है और हो सकता है आने वाले समय में यह अनिवार्य भी हो जाये और चूँकि आधार कार्ड जब बनता है तो हम उसके लिए आँखों के रेटिना और अपने फिंगरप्रिंट भी देते है इसलिए ऐसा करना आसान भी है क्योंकि अगर हमारे सभी तरह के Bank Accounts आधार कार्ड से लिंक होंगे तो दुकानों पर और जन्हा आधार कार्ड के जरिये पेमेंट्स लेने की सुविधा है वंहा हमसे न पिन पूछा जायेगा और नहीं ही हमे कोई कार्ड साथ लेकर चलना होगा हमे केवल आधार नंबर दुकान वाले को बताना है और उसके बाद पेमेंट के वेरिफिकेशन के लिए हमे बायोमेट्रिक डिवाइस पर अपना अंगूठा या ऊँगली रखनी है ताकि हमारी पहचान प्रमाणित हो सके और उसके तुरंत बाद हम पेमेंट कर सकते है | तो यह एक बेहतरीन विकल्प है जो कैशलेस सिस्टम को बल देगा |

फायदे क्या है – इस तरह की तकनीक के इम्प्लीमेंट होने पर कई तरह फायदे है जैसे कि अगर बैंकिंग व्यवस्था में यह होता है तो आपके लेन देन तेजी और बेहद सुरक्षित हो जायेंगे और एटीएम कार्ड के जरिये होने वाली धोखाधड़ी पर भी लगाम लगेगी | ऑफिस वगेरह में attendence जो होती है वो अगर इस सिस्टम के जरिये होने लगे तो फिजिकल वर्क भी बचेगा और साथ ही तेजी से भी सिस्टम काम करेगा तो इस तरह बहुत से प्रयोजन है जो पूरे किये जा सकते है और सुरक्षा बेहतर की जा सकती है | आप खुद ही देखिये ना कि आजकल आपको अगर बैंक खाता खोलना हो या नया मोबाइल कनेक्शन लेना हो तो आधार कार्ड और उसके सत्यापन के लिए Biometric System का इस्तेमाल किया जाता है तो आप कुछ ही मिनट्स में अपना मोबाइल कनेक्शन चालू करवा पाते है और कुछ ही घंटो में अपना bank account खोल पाते है |

तो ये है  Biometric System details in hindi और इस बारे में अधिक जानकरी के लिए आप हमे ईमेल भी कर सकते है या हमसे जुड़ने के लिए और ताजा update पाने के लिए आप हमसे फेसबुक पेज को लाइक करके भी जुड़ सकते है |

Image Source – demo pic