Home Internet world क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन के पीछे की तकनीक को जानिए

क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन के पीछे की तकनीक को जानिए

SHARE

Bitcoin के बारे में आप अब तो काफी कुछ जानते है क्योंकि हाल ही में यह पूरे अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ख़बरों की वजह बना हुआ है और साथ ही अब वो लोग भी इसमें रूचि ले रहे है जो इस बारे में अधिक जानकारी नहीं रखते है या पहले बिटकोइन के बारे में कोई खास राय नहीं रखते थे | वजह है इसके Price का अप्रत्याशित रूप से बढ़ना और अब तो यह इतना महंगा हो गया है कि आम आदमी अगर एक bitcoin लेना चाहे तो उसे यह करीब 10 लाख (यह कोई मानक value नहीं है क्योंकि Price रोज कम ज्यादा होता रहता है ) का पड़ता है | इस पोस्ट में हम इसकी तकनीक के बारे में बात करते है तो चलिए जानते है –

Bitcoin technology in hindi

अगर हम बिटकॉइन की परिभाषा की बात करें तो “ यह एक ऐसी “ Digital Currency “ है जिस पर हमारी पारम्परिक Currency की तरह किसी भी तरह का कोई सरकारी या संस्था या बैंक का नियंत्रण नहीं है और चूँकि यह peer-to-peer technology पर काम करती है जो block-chain पर आधारित होता है | ” अब अगर इसे सरल शब्दों में समझा जाये तो बैंक या किसी सरकार के नियंत्रण में नहीं होने से मतलब है कि इसे कोई भी संस्था या Bank नियंत्रित नहीं करता है और सारे लेन देन उन दो लोगो के बीच में ही होते है जो आपस में बिटकॉइन के जरिये लेनदेन करना चाहते है | यही वो वजह है जिसकी वजह से बिटकॉइन लोगो के लिए खास हो जाता है और सरकारों और बैंक्स के लिए चिंता का विषय , क्योंकि अगर हम लेन देन करते है तो वह एक से अधिक बैंक्स के जरिये होता है जिसके लिए बैंक हमसे कमीशन के तौर पर राशि भी लेते है और बैंक्स की आय भी होती है | Banks के जरिये होने वाले लेन देन चूँकि जरुरत पड़ने पर किसी अथॉरिटी के द्वारा या सरकार या खुद Banks के द्वारा देखे जा सकते है इसलिए इसमें लेन देन करने वालों की गोपनीयता नहीं होती है और Transaction को आसानी से Track किया जा सकता है |

peer-to-peer technology के बारे में अगर हम बात करें तो इसका मतलब होता है जिसमे लेन देन करने वाले के बीच में कोई सेंट्रल अथॉरिटी नहीं होती है जो उस पर कण्ट्रोल या उसका नियमन कर सकती है | इसे अगर Bitcoin के संदर्भ में देखा जाये तो दुनिया में कोई भी ऐसी संस्था नहीं है जो बिटकॉइन पर नियंत्रण कर सकती है या इसके जरिये होने वाले लेन देन की पीछे के व्यक्ति के बारे में जानकारी देख सकती है | यही वजह है कि थोड़े ही समय में ट्रेडिशनल करेंसी की जगह लोग इसे तवज्जो देने लगे है | हालाँकि इसका एक दूसरा पहलू भी है और वो है इसका गलत इस्तेमाल | चूँकि इसके जरिये होने वाले लेन देन पर किसी संस्था या सरकार का नियंत्रण नहीं है इसलिए ड्रग तस्करी या दूसरे कई गैरकानूनी धंधो के लिए इसके इस्तेमाल की शंका बनी रहती है और लोग करते भी है | इसके उदारहण के लिए आप एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस सिल्क रोड के बारे में जानकारी ले सकते है जन्हा पर एक ऑनलाइन वेबसाइट के जरिये ड्रग्स बेचे जाते थे और भुगतान के लिए bitcoin का इस्तेमाल होता था |

bitcoin technology in hindi
bitcoin technology in hindi

Bitcoin technology में गोपनीयता के चलते इसके कुछ अपने फायदे और नुकसान है | चूँकि इस पर किसी सेंट्रल ऑथरिटी का कोई कण्ट्रोल नहीं है इसलिए गोपनीयता तो होती है लेकिन साथ ही अगर आपने किसी गलत एड्रेस पर कुछ कॉइन भेज दिए है तो आप उसे वापिस नहीं पा सकते | ठीक इसी तरह अगर आपने अपने अकाउंट का एक्सेस खो दिया है या किसी भी तरह के फ्रॉड के शिकार होते है , उस स्थिति में भी आप अपने बिटकॉइन वापिस हासिल नहीं कर सकते है क्योंकि आप किसी से इसकी रिपोर्ट नहीं कर सकते , क्योंकि कोई संस्था तो है ही नहीं  |

तो ये है  Bitcoin technology in hindi और हमारी वेबसाइट से regular hindi अपडेट पाने के लिए आप हमसे ईमेल सब्सक्रिप्शन भी ले सकते है और फेसबुक के जरिये भी हमसे जुड़ सकते है | अपने किसी सवाल या सलाह के लिए आप हमे ईमेल भी कर सकते है |

Image Source :- Demo pic