Home Short Stories चतुराई काम आयी – chatur siyar story in hindi

चतुराई काम आयी – chatur siyar story in hindi

SHARE

chatur siyar story in hindi – एक जंगल में एक बहुत ही तेज दिमाग वाला सियार रहता था | एक दिन उसने जंगल में मरा हुआ हाथी देखा | बड़ा खुश हुआ सोचा आज तो बहुत ही अच्छा कुछ खाने को मिलेगा उसने हाथी के मृत शरीर में दांत गडाने की कोशिश की लेकिन हाथी की चमड़ी मोटी होने के कारण ऐसा करने में असफल रहा | वह कुछ उपाय सोच रहा था कि उसने देखा कि सामने से एक शेर आ रहा है | तो उसने शेर से कहा कि “स्वामी मेने आपके लिए ही इसे मारकर रखा है आप इसे खाकर मुझे कृतज्ञ कीजिये |”

शेर ने कहा मैं अपना शिकार खुद करता हूँ और किसी दुसरे के हाथों मारे गये शिकार को नहीं खाता हूँ इसलिए इसे तुम ही खाओं | इस पर सिआर खुश तो हुआ पर हाथी की मोटी चमड़ी को चीरने की समस्या अभी भी थी | थोड़ी देर में उधर से एक बाघ आ निकला तो बाघ ने पास आकर अपने होटों पर जीभ फिराई तो सियार ने उसकी मंशा को भांपते हुए बोला कि ‘मामा आप मौत के मुह में आज केसे आ गये शेर ने इसे अभी मारा है और मुझे इसकी रखवाली के लिए बोलकर गया है |”

एक बार बाघ ने शेर के शिकार को जूठा कर दिया था तो तब से शेर आज तक बाघ जाति से नफरत करता है यह सोचकर कि आज तो शेर मुझे मार ही देगा बाघ उसी वक़्त नो दो ग्यारह हो गया | इस पर सियार सोचने लगा कि क्या करूँ इतने में सामने से एक चीता आता दिखाई दिया तो सियार के दिमाग में एक युक्ति आई उसने चीते से कहा कि तुम भूखे लग रहे हो वैसे तो शेर ने इसका शिकार किया है और मुझे इसकी रखवाली के छोड़ गया है पर तुम चाहो तो थोडा सा खा सकते हो जैसे ही शेर आने लगेगा मैं तुमको बता दूंगा इस पर चीते ने अपने तेज दांतों से मांस को चीरना शुरू किया कि सियार चिल्ला उठा कि भागो शेर आ गया है | चीता वंहा से सरपट भाग खड़ा हुआ और फिर क्या था सियार ने कई दिनों तक आराम से हाथी को खाकर अपना गुजारा किया |

moral : बुद्धि से सब मुश्किल काम आसान हो जाते है इसलिए हमे हमेशा बुद्धि का प्रयोग करना चाहिये |