Home करियर बिजनेस पार्टनर चुनते समय ध्यान रखें -Choose business partner Hindi

बिजनेस पार्टनर चुनते समय ध्यान रखें -Choose business partner Hindi

SHARE

business partner Hindi – जब हम बात करते है बिजनेस startups की तो अकसर थोड़ी बहुत मुश्किलें तो आती ही है क्योंकि किसी भी नए काम को शुरू करने के पीछे जो संभावित असफलता का डर होता है वो हमे बहुत हद तक हमे सीमित कर देता है ऐसे में हम अपना risk कम करने और साथ ही Support के लिए चाहते है कि हमारा कोई business partner हो एक अच्छा तो कितना बेहतरीन चीज़े हो जाये और मैनेजमेंट के साथ साथ कुछ और चीज़े भी वो सम्भाल सकते है जिस से जल्दी grow करने में मदद मिलती है ।

जबकि बात अगर निवेश से जुडी जरूरतों को लेकर पार्टनर बनाने की हो तो आपको संभल कर चलते की जरुरत है । नये वेंचेर या आईडिया के बहाव में आकार जल्दबाजी में कोई पार्टनर बना लेना आपके लिए भविष्य में अगर उसके साथ आपकी पटरी नहीं बैठती है तो आपके लिए मुश्किलें कड़ी कर सकता है । और सारा काम खुद देखने वाला व्यक्ति अगर कभी भी खुद को आपसे अलग कर लेता है तो आप क्या करेंगे । इसलिए पार्टनर चुनते समय दिमाग से काम लें और ये मुख्य बातें है जो ध्यान में रखें ।

समझौता करें – बिजनेस शुरू करने या startups शुरू करने की जल्दबाजी के चक्कर में कानूनी औचारिकताओं को नजरंदाज नहीं करें और कोई भी पार्टनरशिप शुरू करने से पहले एक लिखित में समझोता करें जिसमे आप दोनों की हिस्सेदारी और जिम्मेदारी दोनों से जुड़े बाते clearly mention हो । कोई भी विवाद वाली स्थिति न लेकर चले ।

Choose business partner Hindi
business partner Hindi

 

कैसा हो partner – किसी भी व्यक्ति को partner नहीं बना लें और अगर आप अपने किसी दोस्त को भी partner के तौर पर चुनते है तो थोडा उसके काम करने के तरीके और आपके लिए उसकी skills कैसी है इन बातों की जाँच करलें और अगर किसी अन्य को partner आप बनाना चाहते है तो आपको उसके बारे में पूरी जानकारी ले लेना आवश्यक है ।उसके background आदि के बारे में जानकारी हासिल करलें ताकि बाद में आपको तालमेल बिठाने में कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पड़े ।

कैसे हो अलग – बिजनेस में सफल होना चाहते है और चाहते है उलझने कम से कम हो तो शुरू से ही कुछ paperwork करके चले और इसमें सबसे मुख्य रूप से आपके अलग होने की सम्भावना है जो आप शुरू में ही निर्धारित करलें कि आपको कैसे अलग होना है क्योंकि ये जरुरी है अगर आप तनावमुक्त तरीके से काम करना चाहते है तो बिजनेस शुरू करने से पहले ही लिखित में तय करलें कि किसको क्या मिलेगा ।

भावनाओं में न बहे – बिजनेस में सफल होना है तो भावनाओं में नहीं बहें रिश्तेदारों के दबाव में आकर कोई गलत पार्टनर नहीं चुने क्योंकि आपका पार्टनर आपके बाद वो इन्सान होना चाहिए जो आपकी अनुपस्थिति में आपके आईडिया को लेकर उतना ही गंभीर हो तो इसलिए ध्यान रखें ।

 

ये ‘ Choose business partner Hindi ’ पोस्ट आपको कैसे लगी इस बारे में हमे अपने विचार नीचे कमेन्ट के माध्यम से अवश्य दे  । हमारी पोस्ट को ईमेल से पाने के लिए आप हमारा फ्री ईमेल सब्सक्रिप्शन ले सकते है ।  NEXT

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया [email protected] हमे  E-mail करें पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे..