Home स्वास्थ्य क्रोनिक पेन क्या होता है जानिए विस्तार से

क्रोनिक पेन क्या होता है जानिए विस्तार से

SHARE

असल में भागदौड़ भरी जिन्दगी में हमे बहुत सारी चीज़े manage करनी होती है और इसी भागदौड़ में हम अपनी health के बारे में conscious नहीं रह पाते है और नतीजा हमे थोड़े दिनों में या बढती उम्र के साथ old age में भुगतना पड़ता है और तरह तरह की health problems हमे doctor के चक्कर लगवाने के लिए मजबूर कर देती है ऐसा ही कुछ होता है क्रोनिक पैन के केस में क्योंकि हमारे साथ परेशानी यह होती है कि जब भी हमे किसी तरह की छोटी मोटी health से जुडी problem होती है तो हम उस पर उतना ध्यान शुरू से देते ही नहीं है और ना ही हम परेशानी को समझते हुए उसका कारण जानने की कोशिश करते है जब भी हमे थोडा बहुत कभी pain होता है तो हम केवल बाम लगाकर या pain killer खा कर राहत प्राप्त करने की कोशिश करते है और राहत मिलने के बाद जो कि स्थायी नहीं होती , हम अपने काम में फिर से busy हो जाते है जो कि एकदम अच्छी habit नहीं है पर हम यह करते रहते है |

Chronic pain disease in hindi

क्या है क्रोनिक पैन / What is Chronic pain –

जब हमे किसी भी तरह का दर्द होता है जैसे कमर दर्द , सर दर्द पीठ दर्द या किसी भी तरह के जोड़ों में दर्द तो हम उतना ध्यान नहीं देते है तो जो उपर मैंने बताया pain killer और बाम लगाकर उस से मुक्ति पाना चाहते है और धीरे धीरे परेशानी के मूल में नहीं जाने के कारण वो usually होने लग जाता है जिसकी वजह से हमे बहुत सारी health related problems का सामना करना पड़ता है और यह दर्द महीनो और सालों तक बना रहता है और लगातार नहीं होता बस यदा कदा होने लगता है और कुछ साधारण दवाईयों के इस्तेमाल से यह थोड़ी देर के लिए ठीक भी हो जाता है इस तरह के pain को क्रोनिक पैन कहते है |

कारण क्या है  / Reason behind Chronic pain-

क्रोनिक pain होने का कोई स्पेसिफिक कारण नहीं है अगर आपको किसी लम्बे समय तक रहने वाली बीमारी है या कोई असाध्य रोग जैसे मधुमेह , जोड़ो का कोई गंभीर रोग या cancer या अन्य कोई बीमारी है तो उसकी वजह से शरीर में कई तरह की weakness आ जाती है जिसकी वजह से आपको इस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है | बुढापे में कभी कभी इस तरह की समस्या हो सकती है अगर आपने सही समय और तरीके से अपनी daily life को मैनेज नहीं किया होता है health के लिए |

इस से health पर पड़ने वाले फर्क क्या क्या है / Health issues due to it-

हो सकता है आपको क्रोनिक pain से होने वाली परेशानी को सहने की आदत पड़ गयी हो लेकिन फिर दर्द को सहने के लिए क्षमता होना ऐसा नहीं है जो आपके शरीर पर होने वाले इसके side effect को रोक पाती है क्योंकि मानसिक तौर पर दर्द को सहना एक अलग बात है और शारीरिक तौर पर उस से होने वाली हानी visible नहीं होती है इसलिए वो एकदम अलग बात है | इस से जो आपको शारीरिक तौर पर जो नुकसान होता है उनके साथ साथ आपकी खाने से जुडी आदतों में भी बदलाव होता है क्रोनिक pain की वजह से खाने में अरुचि ,stress जैसे लक्षण हो सकते है और साथ ही आपके immune system के काम करने के तरीके में भी बदलाव हो सकता है वो प्रभावित हो सकता है जिसकी वजह से छोटी छोटी बीमारियाँ आपको परेशान कर सकती है जैसे सर्दी और जुकाम |

pain killer की वजह से होने वाले नुकसान / health loss due to Chronic pain-

जब भी आपको pain होता है आप pain killer और बाम या कुछ ऐसी ही विकल्पं का इस्तेमाल करते है जबकि हो सकता है बाम के कोई side effect नहीं हो लेकिन pain killer आपके दर्द को कम करती है लेकिन pain होने का मूल कारण हो है उसे ठीक नहीं करती है इसकी वजह से आपकी body में chemical imbalance होता है और आपको कई तरह के side इफेक्ट्स का सामना करना पड़ता है | अगर आपको stress है और अन्य कोई बीमारी है जिसकी weakness की वजह से आपको दर्द हो रहा है तो उसका उपचार यह pain killer नहीं करती है उल्टा साधारण दर्द को लम्बे वाले दर्द यानि क्रोनिक pain में जरुर बदल सकती है इसलिए जब भी आपको इस तरह की कोई परेशानी हो तो आपको लम्बे समय के लिए होने वाले health के नुकसान के बारे में सोचना चाहिए और कुछ और विल्कप जो हम नीचे आपको बता रहे है इनके बारे में सोचना चाहिए |

chronic pain in hindi
chronic pain

क्रोनिक दर्द के उपचार के लिए कुछ advises / some useful advises for Chronic  pain and disease

  • सबसे पहले तो आप yoga करने के बारे में सोच सकते है और आपको पता है yoga करने के सेहत से जुड़े फायदे अनेक है और आपको मानसिक और शारीरिक दोनों तरह की शांति मिलती है |
  • थोडा बाहर जाएँ और लोगो से मिलना जुलना करें और देखें कि अगर आपकी तरह कोई पीड़ित व्यक्ति है तो वो किस तरह से इसे deal करता है क्योंकि अगर कोई natural समाधान हो जिसे वो फॉलो करता हो तो आप उसे से guidance ले सकते है |
  • आयुर्वेदिक चिकित्सा के बारे में थोडा और जाने और किसी certified आयुर्वेद के doctor से सम्पर्क करके और जानकारी प्राप्त करें और अपनी समस्या उस से share करें |
  • दवाईयों की आदत डालने से खुद को रोके और सोचे कि आपका शरीर है जिसे अपने healthy बनाना है और लम्बे समय तक इसे चलाना है |

तो ये है कुछ बातें जिन्हें आप फॉलो कर सकते है अगर आप भी Chronic pain जैसी समस्या का सामना कर रहे है हमारी ये पोस्ट आपको कैसी लगी इस बारे में हमे comment के माध्यम से जरुर बताएं और हमारी website से hindi में अपडेट पाने के लिए आप हमारी website से फ्री ईमेल subscription ले सकते है साथ ही हमारे गूगल प्लस page को फॉलो करके हमारी साथ जुड़ सकते है |

Image Credit