Home Short Stories एक सपने के सच होने की कहानी

एक सपने के सच होने की कहानी

SHARE

एक शहर (City ) में एक छोटा लड़का (young boy) रहा करता था अपने पिताजी के साथ और उसके पिता (father) जो है वो किसी बड़े आदमी के घोड़े के अस्तबल(Stable) में काम किया करते थे और वो देखता कि किस तरह उसके पिता पूरे दिन घोड़ों (Horses) के साथ रहते है और इतनी मेहनत करते है फिर भी उन्हें वो मान सम्मान कभी नहीं मिलता जो उस घोड़े के मालिक को है जिसके पास सेंकडों अच्छे घोड़े है और साथ ही वह समाज में खूब इज्जत और मान सम्मान भी पाता है | बचपन सपना देखने की उम्र होती है और जवानी उसे सच करने की और ऐसे ही उस लड़के ने भी सपना (Dream) देखना शुरू कर दिया कि एक दिन उसके पास भी इतनी ही दौलत होगी और उसके पास भी घोड़ों का एक बड़ा रेंच होगा जन्हा पर बहुत सारे घोड़े प्रशिक्षित किये जायेंगे और उनका मालिक भी बनेगा |

Hindi dream come true story 

एक दिन स्कूल में सभी बच्चो से कहा गया कि वो लोग घर जाकर अगली सुबह एक लेख लिखकर लायेंगे जिसमे ये होगा कि वो बड़े होकर क्या करना चाहते है और क्या बनना चाहते है तो इस पर उस लड़के ने रात भर जागकर एक बहुत ही बेहतरीन लेख लिखा और साथ ही अपने सपने (dream) को उसमे पूरी तरह बताते हुए उसमे उसमे 200 एकड़ के अपने सपनों वाले रेंच की फोटो भी बना दी और लड़के ने पूरे मन के साथ वो निबंध लिखा और अगले दिन शिक्षक को दे दिया |

शिक्षक ने सभी कापियां जांचने के बाद परिणाम सुनाया तो लड़के को अजीब लगा क्योंकि उन्होंने उस लड़के द्वारा मेहनत से लिखे गये उस लेख के लिए कोई मार्क्स नहीं दिए थे और उस पर बड़े अक्षरों से फेल लिख दिया इस पर लड़के ने टीचर से वजह पूछी तो टीचर ने कहा बेहतर होता वो कोई छोटा मोटा लेख लिखता क्योंकि तुमने जो लिखा है वो पूरी तरह असम्भव है तुम लोगो के पास कुछ नहीं है इसलिए ऐसा सम्भव ही नहीं लेकिन फिर भी मैं तुम चाहो तो तुम्हे दूसरा मौका दे सकता हूँ | तुम इस निबंध को दुबारा लिखो और कोई वास्तविक लक्ष्य (Real Goal) बना लो मैं तुम्हे दोबारा नंबर देने के बारे में फिर से सोच सकता हूँ |

लड़का उस कॉपी को लेकर घर गया और उस पर काफी सोचा लेकिन उसे पूरी रात नींद नहीं आई अगले दिन वो टीचर के पास जाकर बोला आपको जो करना हो कर सकते है क्योंकि मेरा लेख यही है मैं इसे नहीं बदलना चाहता हूँ और अगर आप मुझे फेल करना चाहते है तो आप अपने फेल को कायम रखिये और मैं अपने सपने को कायम रखता हूँ |

dream come true hindi story
dream come true hindi story

बीस साल बाद वही शिक्षक कोई अंतर्राष्ट्रीय घुड़दौड़ देख रहा था तो दौड़ के पूरी हो जाने के बाद एक आदमी उनके पास आया और बड़े प्यार से उनको अपना परिचय दिया क्योंकि वह अपनी दुनिया में एक बहुत बड़ा नाम बन चूका था और यह वाही छोटा लड़का था जिसमे सालों पहले यह सपना देखा था |

तो ठीक इसी तरह से हमे अपनी जिन्दगी (life) के बारे में बहुत कुछ बदलना होता है हमे लक्ष्य (goal) निर्धारित करने हटे है और कुछ भी विचलित नहीं होना होता लोग इस बारे में आपसे बहुत कुछ कहते है लेकिन आपको अपने सपने (dream) को पूरा करने में ध्यान देना है और पूरी उर्जा के साथ आगे बढना होता है वही आपको अपनी कामयाबी के पास (dream come true) लेकर जाएगी |

तो ये है एक Hindi Story जो आपके लिए सपनों को नये नजरिये से देखने का दम भरती है और भी अधिक hindi कहानिया पढने के लिए यंहा क्लिक करें और साथ ही हमारी वेबसाइट से अपडेट पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को like कर सकते है |image source