Home Short Stories प्रवचन और मुल्ला नसरुदीन – Discourse and Mullah Nasiruddin

प्रवचन और मुल्ला नसरुदीन – Discourse and Mullah Nasiruddin

SHARE

Discourse and Mullah Nasiruddin -एक बार मुल्ला नसरुदीन को प्रवचन देने के लिए आमंत्रित किया गया | नसरुदीन समय पर पहुंचे और स्टेज पर आ गये और अपना प्रवचन शुरू करने से पहले उन्होंने ने लोगो को संबोधित किया कि ‘ क्या आप जानते है मैं आपको क्या बताने वाला हूँ |’ सब लोगो ने एक साथ एक स्वर में जवाब दिया कि ‘नहीं’ इस पर मुल्ला नसरुदीन नाराज हो गये और कहने लगे अजीब मूर्ख लोग है जो ये जानते ही नहीं मैं क्या कहने वाला हूँ ऐसे लोगो के साथ समय बर्बाद करने का क्या फायदा और वो उठकर चले गये |

लोग शर्मिंदा हुए इसलिए उन्होंने अगले दिन फिर से प्रवचन के लिए मुल्ला को  बुलावा भेजा और वो आये भी | आकर आज भी प्रवचन से पहले  उन्होंने लोगो से यही सवाल किया कि ‘क्या आप जानते है मैं क्या बोलने वाला हूँ ‘ लोगो ने इस बार एक कोरस में चिल्लाकर कहा कहा ‘हाँ ‘ | इस पर मुल्ला फिर लोगो से नाराज हुए और कहने लगे अगर ऐसा ही है तो मुझे क्यों बुलाया गया है मैं आप लोगो के लिए समय बर्बाद नहीं करना चाहता |

लोग दुविधा में थे कि अब इनसे कैसे पेश आया जाये तो भी लोगो ने एक उपाय सोचकर मुल्ला को फिर से प्रवचन के लिए बुलावा भेजा | इस बार भी वो आ गये और लोगो से फिर प्रवचन शुरू करने से पहले वही सवाल किया तो योजना के मुताबिक आधे लोगो ने कहा हाँ और आधे लोगो ने कहा नहीं हम जानते | इस बार मुल्ला नसरुद्दीन फिर तैश में आ गये और बोले कि फिर मेरा यंहा क्या काम | आप लोगो में से जो आधे जानते है कि मैं क्या कहने वाला हूँ वो बाकि आधे लोगो को बता दें जो नहीं जानते |

फिर कभी किसी ने मुल्ला नसरुद्दीन को नहीं बुलाया |