Home स्वास्थ्य डिस्लेक्सिया हो सकता है आपके बच्चे की पढाई में कमजोरी की वजह

डिस्लेक्सिया हो सकता है आपके बच्चे की पढाई में कमजोरी की वजह

SHARE

dyslexia एक असामान्य बीमारी है जिसमे बच्चे के अंदर व्याकरण और मात्रा ज्ञान जैसे विषय में जानकारी नहीं होती है और वो सामान्य बच्चो से अलग प्रदर्शन करते है जब वो पढ़ते है और dyslexic बच्चा वैसे किसी भी रूम में प्रतिभा के मामले में सामान्य बच्चो से जरा सा कम नहीं होता बस उन्हें शब्द ज्ञान के मामले में थोड़ी मुश्किल होती है तो चलिए dyslexia के बारे में थोड़ी और information , treatment और symptoms के बारे में जानते है-

Know about dyslexia information in Hindi

dyslexia पीड़ित बच्चा चूँकि शब्द ज्ञान के मामले में कमजोर होता है इसलिए जब उसे पढाया जाता है तो उसे मात्रा सम्बन्धी मामले में मुश्किल आती है और वो कागज को काजग पढ़ता है कलम को कमल पढता है कुछ और इसी तरह की कमियां उसमे अंको के मामले में भी होती है इन बच्चो को शब्दों को तोड़कर पढना नहीं आता है और अंग्रेजी में बहुत सारे शब्द होते है जैसे but , put आदि जिनमे उच्चारण अलग होता है लेकिन शब्दों की structure एक जैसी होती है इन्हें पढने में भी इन्हें बहुत समस्या आती है और ये उनमे भेद नहीं कर पाते है और अगर किसी बच्चे के साथ ऐसा है तो आप समझ सकते है कि उसे dyslexia  की समस्या है |

कमजोर बच्चे और dyslexia से पीड़ित बच्चे के बीच समझे अन्तर

dyslexia से पीड़ित बच्चे और जो बच्चे सामान्य तौर पर पढाई में कमजोर होते है उनमे बहुत अन्तर होता है हो सकता है आपका बच्चा सामान्य बच्चे से सीखने के मामले में थोडा slow हो और उस पर आपको खास ध्यान देने की जरुरत होती है लेकिन dyslexia से पीड़ित बच्चे के मामले में ऐसा कुछ नहीं होता है क्योंकि dyslexia से पीड़ित बच्चे में केवल मात्रा ज्ञान में भ्रम होने के अलावा कोई भी समस्या नहीं होती है | ऐसा भी research से देखने में आया है ऐसे बच्चे में किसी चीज़ को देखकर याद रखने की क्षमता बाकि बच्चो की तुलना में अधिक होती है और किसी बारे में कोई एक दृश्य अगर ये देखकर याद कर लेते है तो फिर उसे भूलते नहीं है इसलिए आप बच्चे की खूबियाँ और कमियान समझते हुए अपने बच्चे के लिए चीज़े बेहतर कर सकते है |

dyslexia information in hindi
dyslexia information in hindi

dyslexia के लक्षण / symptoms of dyslexia 

  1. छोटे बच्चे को शब्द लिखने में भी दिक्कत आती है और वो उन्हें सही से लिख नहीं पता है क्योंकि उसे मात्रा में भ्रम होता है इसलिए वो pen को pin लिख देता है क्योंकि उसे ध्वनि के मामले में भी अन्तर नहीं समझ आता है |
  2. उसकी एकाग्रता में कमी होती है इसलिए हो सकता है ताजा पढ़ी हुई चीज़ को भी वो दोहरा नहीं पाता है |
  3. एक ही शब्द की स्पेलिंग अलग अलग तरीके से लिखता है और हो सकता है फिर भी वो नहीं लिख पाए |

बड़े बच्चो में इसके थोड़े अलग तरह के  symptoms होते है –

  1. चीजों के क्रम के बारे में उसे परेशानी होती है दोबारा दोहराने को अगर उसे बोला जाये
  2. कोई भी important बात बता रहा होता है तो बीच में कोई ऐसा बात बताने लगता है जिसका अभी चल रही बात से कोई लेना देना नहीं होता है |
  3. लिखी हुई चीजों का क्रम उसे याद नहीं रहता है और अगर उसे फिर से उन्हें पढ़कर दोहराने को बोला जाए तो वो यह करने में मुश्किल महसूस करता है |

parents ऐसे में क्या करें / responsibilities of parents-

  1. आपको ऐसे बच्चे के साथ सही तरीके से पेश आने की जरुरत है सबसे पहले तो उन पर गुस्सा करने की बजाय आप ये देखे परेशानी की वजह क्या है और परेशानी है कन्हा कन्हा |
  2. बच्चे के साथ नम्रता से पेश आते हुए उस से पूछे कि school में उसे कैसा महसूस होता है और किन चीजों में वो दिक्कत महसूस करता है |
  3. उसे ये कभी जाहिर नहीं होने दे कि वो पढता नहीं है या पढाई में निक्कम्मा है उसे बताएं कि तुम बहुत मेहनत करते हो इसलिए हमने और teacher में मिलकर तुम्हारे लिए पढने के कुछ खास तरीके सोचे है ताकि तुम और भी अच्छे से पढ़ पाओ |
  4. उस से पूछे कि उसे पढने में किस तरह की मुश्किलें आती है और किस तरह से वह उन्हें देखता है ताकि आप उन्हें solve करने के लिए कुछ कर सकें |
  5. बच्चे के गलती करने पर उसे ज्यादा डांटा जाने पर वह डांट के प्रति बेपरवाह हो जाता है इसलिए ऐसा नहीं करें और उसका मन क़िस तरह की चीजों में लगता है यह जाने और उसके अनुसार आप उसकी प्रतिभा में निखार ला सकते है बल्कि जो वो करता है उसमे उसके प्रयासों की तारीफ करें |
  6. बच्चे को उसके लक्षणों के अनुरूप समस्याओं को भांपकर आप उसी तरीके से उन्हें सामान्य व्याकरण और उसकी भाषाई समझे को बेहतर करने के प्रयास करें ताकि उसकी यह कमजोरी दूर हो सके |

तो ये है  dyslexia information in hindi और हमारी ये पोस्ट आपको कैसी लगी इस बारे में हमे comment के माध्यम से जरुर बताएं और हमारी website से hindi में अपडेट पाने के लिए आप हमारी website से फ्री ईमेल subscription ले सकते है साथ ही हमारे गूगल प्लस page को फॉलो करके हमारी साथ जुड़ सकते है |

Image Credit