Home Short Stories मौत का भय और समुद्र – No fear of death a story...

मौत का भय और समुद्र – No fear of death a story in Hindi

SHARE

No fear of death – एक मछुआरा था और वह रोज मछली पकड़ने के लिए उफनते हुए समुद्र  में जाता यही उसकी दिनचर्या थी और रोजगार का एकमात्र साधन भी समुद्र  ही था जब एक दिनों वो मछली पकड़ने का काम खत्म करने के बाद समुद्र  से वापिस आ रहा था तो उसे एक वणिक मित्र मिला उसने बाते करनी शुरू कर दी |

कुछ इधर उधर की बाते कर चुकने के बाद उसने उस मछुआरे से पूछा तुम्हारे पिता है ? तो उसने कहा नहीं उन्हें एक बार समुद्र में  एक बड़ी मछली निगल गयी | इस पर उसने पुछा तुम्हारे बड़े भाई कन्हा है तो उसने कहा एक बार समुद्र में आये  किसी तूफान में उनकी नाव फस गयी इसलिए वो अब नहीं रहे |

वणिक ने इस पर कहा जब तुम्हे पता है कि ये समुद्र जो है तुम्हारे पूरे परिवार के विनाश का कारण है फिर भी क्यों तुम बराबर इसमें जाते हो क्या तुम्हे मरने का डर नहीं है ?

मछुआरे में जवाब दिया कि भाई मौत का डर किसी को हो या न हो पर वो तो आयेगी ही जरा एक बात बताओ तुम्हारे परिवार में से कितने लोग गये है जबकि उनमे से शायद ही कोई हो जो समुद्र की तरफ आया हो तो फिर वो लोग कैसे चले गये |

मौत के विषय में कोई कभी नहीं कह सकता कब आयेगी या किस रूप में आयेगी तो जब कुछ निश्चित ही नहीं है मैं अनावश्यक क्यों डरूं??