Home Short Stories बिल्ल्ली और कडाही-Funny dead cat story

बिल्ल्ली और कडाही-Funny dead cat story

SHARE

Funny dead Cat Story – पुराने ज़माने के समय की बात है | एक सेठ ने भोज आयोजन किया तो सभी अथिति आ चुके थे | रसोई तेयार हो चुकी थी इतने में सेठ ने देखा कि भोजन पंडाल में एक बिल्ली मरी पड़ी है | सेठ ने सोचा ये बात अगर किसी को पता चली तो कोई भी भोजन ग्रहण नहीं कर पायेगा | अब इस समय उसे बाहर फिंकवाने की व्यवस्था करना भी संभव नहीं था | अत: सेठ ने वन्ही पड़ी कढाई को उठाकर बिल्ली को ढक दिया | सेठ की प्रक्रिया को उनके पुत्र के सिवा किसी ने नहीं देखा |

बिना किसी मुश्किल के भोजन समारोह सफल रहा | कालांतर में सेठ की मृत्यु हो गयी तो उनके जाने के बाद उनके बेटे ने भोज आयोजित किया | सब तेयारियों के साथ भोजन तैयार होने के बाद भी लोगो ने देखा कि युवक इधर उधर घूम रहा है और कुछ खोज रहा है | लोगो ने उस से पूछा की क्या खोज रहे हो तो उस युवक ने जवाब दिया बाकि सब नेग तो पूरे हो गये है बस एक मरी हुई बिल्ली मिल जाये तो इस कडाही से ढक दूँ | लोगो ने कहा कि यंहा मरी बिल्ली का क्या काम है ? तो युवक बोला कि अमुक अमुक भोज में पिताजी ने भी ये किया था | उन्होंने भी एक मरी हुई बिल्ली को कडाही से ढका था | वह व्यवस्था हो जाये तो भोज समस्त रीति रिवाज से पूर्ण हो जाये |

लोगो को बात समझ आ गयी थी वो बोले ” तुम्हारे पिता निश्चित ही एक समझदार इन्सान थे उन्होंने अवसर के अनुकूल जो था किया पर तुम तो निरे बेवकूफ हो जो बिना सोचे समझे वो दोहराना चाहते हो |”