Home marriage life एक अच्छी माँ कैसे बने जानिए कुछ राज

एक अच्छी माँ कैसे बने जानिए कुछ राज

SHARE

Good mother होना एक माँ के लिए स्वाभाविक उपलब्धि है जो एक women में होती ही है और आप एक Mother है और आपके कंधो पर बहुत सारी जिम्मेदारियां भी है और children होने के बाद तो यह जिमेदारियां और भी बढ़ जाती है  अक्सर parents खासकर माँ को बहुत परेशान देखा जा सकता है अपने children  के भविष्य को लेकर अगर उसके class में average marks  आते है और बच्चो के रहन सहन और उनके खाने पीने से लेकर उनका व्यवहार आदि पर माँ नजर रखती है और कभी कभी तो यह चिंता इतनी बढ़ जाती है कि बच्चे के लिए परेशानी भी होने लगती है उसे एक बंधन सा लगता है और हमेशा यह डर लगता है Mom डांट देगी अगर ये किया और ये नहीं किया तो ….चलिए कुछ और बात करते है इन चीजों के बार में जो Good mother होने के नाते आपको क्या क्या बाते ध्यान मे रखनी चाहिए –

Good mother responsibilities hindi

बच्चो को पनपने दें  कुदरती / keep them learning  – आप एक mom है और एक अच्छी mom होने के नाते आप उसे बांधे नहीं बल्कि उसे पनपने दें और हर बात के लिए उसे रोका टोकी नहीं करें आप बच्चे को खुद से चीज़े सीखने का मौका दें और केवल उसकी Guide बने और आपका बच्चा जब भी चीजों को सीखने में कुछ mistake कर रहा है उसे सिखाएं और बताएं कि ऐसे नहीं ऐसे सही तरीका है काम को करने का |

धार्मिक और पसंन्द से जुडी चीज़े थोपे नहीं / Don’t give ’em a static thinking  – आपका बच्चा है और आपका उस पर पूरा हक है लेकिन आप परविश कितनी शिद्दत से करते है इसी बात पर वो आगे जाकर कैसा बनेगा यह निर्भर करता है इसलिए कभी भी अपनी धार्मिक भावनाएं और उसकी पसंद नापसंद से जुडी चीज़े उस पर थोपे नहीं क्योंकि यह सही नहीं है उसे एक आदर्श परवरिश के साथ बड़ा होने दे और साथ ही उसे समाज और किताबों से सीखने दें और आस पास के वातावरण को समझने की समझ विकसित होने दें जैसा मैंने पहले ही कहा निर्धारक नहीं बने अपितु उसके लिए guide करने वाले mother बने |

good mother in hindi
good mother in hindi

पढाई की चिंता / do not worry about his study – अक्सर parents और खासकर mother इस बात की बहुत चिंता करती है अगर उसके बच्चे के study में औसत अंक आते है ऐसे में चिंता स्वाभाविक भी है कि अगर अभी बच्चे के grade अच्छे नहीं है तो इस competition से भरे जमाने में मेरा बच्चा बाकि बच्चो से आगे नहीं निकल पाया तो लेकिन ऐसा नहीं है आप यह सोचकर अपने लिए और अपने बच्चे से जो आपकी उम्मीदे है उनका बोझ बच्चे को दे रही है इसलिए ध्यान रखे कि छोटी classes में आने वाले grade आपके बच्चे के लिए कोई खास मायने नहीं रखते है इसलिए आप उसे अच्छे grades लाने के लिए सही तरीके से प्रोत्साहित कर सकते है लेकिन उस पर किसी भी तरीके का नैतिक दबाव नहीं होना चाहिए और अपनी उम्मीदों का बोझ उस पर नहीं रखें अपितु उसे बताएं कि अगर वो मेहनत करता है तो उसके आने वाली जिन्दगी के मायने ही कुछ और होंगे और success होने के लिए सबसे अधिक मेहनत जरुरी है और ऐसा करने से वो सबसे अलग होगा | उसके स्कूल में टीचर्स से बात करें और यह जानने की कोशिश करें कि परेशानी कन्हा है और कन्हा आपके बच्चे को improvements की जरुरत है ऐसे में सही तरीके से timing के साथ किया गया प्रयास आपके बच्चे के लिए हितकारी होगा |

रहन सहन की चिंता / lifestyle and childhood – आप अपने बच्चे को ideal बनाने की चिंता न करें बल्कि study और उम्मीदों के साथ साथ उसे उसके बचपन को enjoy करने दें और उसके खेलने और अन्य रूचि के कामों जिसमे उसे अच्छा लगता है उसे करने दें और अगर खेलने से उसके कपडें गंदे हो जाते है तो आप है न इसके लिए लेकिन गंदे होने के डर से उसे खेलने के लिए वंचित करना या बीमार हो जाने की वजह से उसकी शारीरिक गतिविधियों को limited करना सही नहीं है उसे जिन्दगी और बचपन के इस अनमोल पलों का आनंद लेने दें | क्योंकि nature के सम्पर्क में आने से कुछ गलत नहीं होता है हाँ जिस जगह वो खेल रहा है उसकी साफ़ सफाई का ध्यान रखे और over protective होने पर आने वाले समय में बच्चे को immune system के विकास में बाधा हो सकती है और हो सकता है किसी खास तरह की elergy की समस्या हो क्योंकि अपने देखा होगा शहरों में रहने वाले बच्चे ग्रामीण क्षेत्रो में रहने वाले बच्चो की तुलना में प्रकृतिक चीजों के साथ अधिक सवेदनशील होते है और उन्हें किसी किसी चीज़ से तो elergy भी होती है क्योंकि उन्होंने प्रकृति के साथ समय बिताया ही नहीं जबकि वन्ही ग्रामीण क्षेत्रो में रहने वाले बच्चे शहर में रहने वाले बच्चो की तुलना में कंही अधिक विकसित immune system लिए हुए होते है |

खाने पीने की चिंता /worry about his launch and dinner – मैंने देखा है हर mother बच्चो के खाने पीने को लेकर बहुत ही अधिक चिंता करती है जबकि ऐसा करना कोई जरुरी भी नहीं है आप माँ है बच्चे के लिए आपकी चिंता स्वाभाविक है इसलिए अगर आपका बच्चा खाने पीने के मामले में नखरे करता है तो आप कुछ बेहतर कर सकती है आप उसके लिए कुछ ऐसी चीज़े कर सकती है जो उसे खाने में पसंद हो लेकिन पोष्टिक भी होने चाहिए बच्चो के लिए घर पर ही कुछ स्नैक्स बना सकती है और खाने के नियमो में कुछ बदलाव ला सकती है और खाने के लिए बच्चे में इस तरीके से दिलचस्पी पैदा करें कि बच्चे में खाने के लिए रूचि हो और आपको इस बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं पड़े और साथ ही बच्चे को समझाए कि खाने का सेहत से किस कद्र जुडाव है और अच्छे खाने के क्या मायने है जैसे आप उसे बता सकते है कि खाने के मामले में नखरे करोगे तो तुम्हारे दिमाग का और सेहत का सही तरीके से विकास नहीं होगा तो तुम study में अच्छे नंबर कैसे लेके आ पाओगे | इस तरीके की अप्रोच से आप बच्चे में खाने के लिए सम्मान और समझ विकसित कर सकते है |

कुछ और चीज़े है जो बच्चो में आप विकसित कर सकते है / develop some other things in kids –

  1. बच्चो को social sites के limited use के लिए प्रेरित करें और उनसे होने वाले नुकसान के बारे में उन्हें बताएं |
  2. उन्हें सिखाएं कि जब भी उन्हें किसी तरह की उलझन या समस्या होती है तो वो उन लोगो के बारे में उनकी जिन्दगी से सीखे कि उन्होंने मुश्किल हालत में किस तरीके से सामना किया था |
  3. बच्चो को उन लोगो के बारे में पढने और समझने के मौका दें जिन्होंने अपनी जिदंगी में मेहनत करके एक अच्छा मुकाम हासिल किया हो क्योंकि ऐसे में अपने बच्चे को बहुत सारी चीज़े सीखने को मिलती है और अपने भविष्य को सवारने के लिए प्रेरणा भी |

तो ये है कुछ tips जिनका ध्यान रख आप एक बेहतरीन माँ (Good mother) बन सकते है बच्चो को सही से सिखाने के लिए और अच्छी माँ का रोल निभाने में आपको मदद मिलती है और अधिक जानकारी और hindi में पोस्ट पाने के लिए आप हमारी website से फ्री ईमेल subscription ले सकते है और साथ ही हमारे गूगल प्लस page को फॉलो कर सकते है |