Home Lifestyle सास के साथ यूँ सुधारें अपने रिश्ते आप

सास के साथ यूँ सुधारें अपने रिश्ते आप

SHARE

Marriage के बाद होने वाले बदलावों में सबसे महत्वपूर्ण है दुल्हन को एक नया परिवार मिलता है खुद के घर के माहौल से एकदम अलग और अगर same भी हो तो भी अलग इसलिए हो जाता है क्योंकि वो शादी के बाद एक जिम्मेदार महिला के रूप में परिवार का प्रतिनिधित्व करती है सो बात कुछ अलग हो जाती है ऐसे में हो सकता है आपके नये परिवार के साथ आपको adujust होने में समय लगे लेकिन ऐसा नहीं है आप अपने ससुराल वालों को manage नहीं कर सकती | आप कर सकती है बशर्ते आप कुछ बातों का ध्यान रखे और वैसे भी सबसे ज्यादा तीखा जो रिश्ता होता है किसी भी ससुराल वाले रिश्तों में वो होता है सास-बहु का रिश्ता जिस पर बहुत सारी किवदंतियां प्रचलित है लेकिन वो कोई thumb rule की तरह नहीं है कि हर सास और बहुत के बीच हमेशा नोक झोंक होती ही है क्योंकि समझदारी और आपसी समझ पर कायम किये रिश्ते और रिश्तों को बनाये रखना अपने आप में एक कला है और आपके अन्दर यह होनी चाहिए तो चलिए जानते है किस तरह से आप सास और बाकि परिवार वालों को manage कर सकती है कुछ hindi tips के माध्यम से  –

Good relation with mother in law in hindi

mother in law से ना रखें जरुरत से अधिक उम्मीदें / Don’t expect much more-

देखा गया है अक्सर बहुएं आपकी mother in law की तुलना अपनी माँ से करती है और किसी भी समय किसी खास मौके पर वो सोचती है या जताती है कि उनकी जगह इस समय अगर उनकी माँ होती तो वो थोडा अलग तरीके से चीजों को उनके लिए करती लेकिन आपको बता दूँ यह सबसे बड़ा मूल कारण है आपके mother in law बहु के रिश्ते में खटास आने का क्योंकि पहली बात तो आप किसी की तुलना करते है किसी अन्य से और वो भी इस तरह रिश्तों में तो खटास आना जायज है और फिर वो आपकी माँ नहीं है जिन्होंने आपको इतने सालों से पला है पोसा है और आपकी हर आदत और जरुरत के बारे में उन्हें सही से भान हो क्योंकि आपके parents आपके साथ सालों से है वो अभी अभी आपकी जिन्दगी का हिस्सा बनी है तो उन्हें थोडा तो समय लगता है अपने बहु के साथ attachment बनाने में |

mother in law good relation
mother in law

mother in law के साथ बनाये एक अलग रिश्ता / Make new chemistry with her-

वो आपके पति की माँ है और जाहिर सी बात है अगर आपके पति आपसे अच्छा बर्ताव करते है वो आपके लिए अच्छे है तो उनमे जो संस्कार है जीवन के प्रति समझ है वो उनकी माँ की वजह से ही है तो उनके प्रति एक सम्मान का नजरिया रखे और वो आपसे बड़ी है आपसे अधिक जीवन का अनुभव है साथ ही आपसे अलग जमाने की भी है तो हो सकता है उनके अचार विचार आपसे अलग हो और आप उनसे सहमत नहीं हो तो कोई बात नहीं लेकिन विरोध जाताना जरुरी नहीं है आप चुटकी बजाके किसी को यूँ ही नहीं बदल सकते है और न ही उसकी सोच बदल सकते है | जबकि प्रेम से यह संभव है पहले आपको उन बातों को ध्यान में रखते हुए उनके दिल में जगह बनानी पडती है जिन्हें वो पसंद करती है और उन्होंने अपनी आने वाली बहु से उम्मीदें रखी थी | वो रिटायर हो रही है तो थोडा तो आराम लेना और फरमान देना उनका हक़ बनता है लेकिन आप एक अच्छा वाला attachment उनके साथ कायम करके इस रिश्ते को दोस्ताना रूप दे सकती है |

कुछ ऐसे घुले मिलें आप घर में / Adjust like salt in water-

पूरे घर में आपके mother in law और ससुर के अलावा देवर- भाभी -ननद और छोटे बड़े बच्चे होते है और हो सकता है आपके सास ससुर अगर पुराने विचारों के है तो आपके देवर या ननंद या बच्चे आपके जमाने के हो और अगर किसी तरह की situation में वो आपकी नहीं सुनते है क्योंकि आप अभी नई है और वो अपने बच्चो के लिए ज्यादा attachment रखती है तो आप direct उनसे कुछ भी कहने की बजाय आप घर के बाकि सदस्यो की मदद ले सकती है इसके लिए जरुरी है आप घर में देवर और भाभी के साथ खुले और रिश्ता कायम करें | ऐसा भी हो सकता है mother in law या ससुर में एक थोड़े अख्हड़ स्वाभाव का हो और दूसरा थोडा लिबरल हो तो इसलिए कोशिश करें आप उनसे सबसे पहले मेलजोल बढ़ाएं जो लिबरल है और आपको लगता है वो आपको समझ सकता है क्योंकि जब भी परिवार में किसी बात को लेकर कोई झगड़ा होता है या अनबन होती है तो यही वो सद्श्य आपका favour लेकर चीज़े सही कर सकता है लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि हो अगर ऐसे हालात बनते है और आपका कोई favour लेता है तो ऐसे में आक्रामक रवैया नहीं रखते हुए गलती न होते हुए भी अपनी गलती स्वीकार कर लें क्योंकि ऐसा होने पर दो benefits होते है एक तो बात वन्ही खत्म होने के आसार होते है और दूसरा आपके गलती स्वीकार करने से जो आपका favour ले रहा है उनकी नज़रों में आप बेहतर स्थान पाएंगी और बाकि के घरवालों को भी आपसे जलन नहीं होगी कि उनके परिवार का कोई सदस्य आपका हिमायती हो रहा है | ये कुछ छोटी छोटी बातें है पर असल जिन्दगी में बहुत मायने रखती है | इसलिए जरूरी है परिवार में आप बड़ो के साथ साथ छोटो से भी रिश्ते कायम करें | बच्चो के लिए आप उनकी पसंद नापसंद का ख्याल रखते हुए उनकी पसंद का कुछ बना सकती है उनके होमवर्क में मदद कर सकती है |

परिवारवालों की रुचियाँ जाने / Know Hobbies of Family members-

परिवार में हर एक को satisfy कर पाना और सभी को थोड़े समय में समझ पाना मुश्किल होता है और नये लोगो के साथ जो आपके जमाने के है ज्यादा दिक्कत नहीं आती है क्योंकि आप उनसे कुछ भी खुलकर कह सकते है लेकिन जो बुजुर्ग है वो थोड़े जिद्दगी हो सकते है क्योंकि बहुत से middle class जो लोग है उनमे बुजुर्ग लोगो ने अपने परिवार के लिए खुद की खुशियाँ तक पर रखकर बहुत मेहनत के साथ सब कुछ हासिल किया होता है और वह उन्हें कुछ जिद्दी और उसूलो वाला बना देती है और हो सकता है पैसे खर्च करने के मामले में वो आपसे अधिक बार सोचते हो इसलिए आप कोशिश करें कि आप वो बातें उनके बारे में जाने जो उन्हें पसंद होती है जैसे आपके ससुर को बागवानी पसंद है तो आप उस काम में उनकी मदद कर सकती है और आपकी mother in law को अगर अचार या कुछ और कामो में मजा आता है तो आप उस तरह के काम में उनकी मदद कर सकती है |

तो ये है Good relation with mother in law in hindi कि आप अपने ससुराल में कैसे रिश्ते बेहतर कर सकते है और  हमारी website से hindi में अपडेट पाने के लिए आप हमारे गूगल प्लस page से जुड़ सकते है साथ ही हमसे फ्री ईमेल hindi subscription भी ले सकते है और अगर आपके मन में किसी तरह का कोई सवाल या जानकारी है जो आप हमसे साझा करना चाहते है तो आप [email protected] पर ईमेल कर सकते है या skype पर पूछ सकते है | Skype – Guide2india |

Image Source – free images