Home वर्डप्रेस कैसे गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) का  Approval प्राप्त करें

कैसे गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) का  Approval प्राप्त करें

SHARE

गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) bloggers के लिए सबसे महत्वपूर्ण जरिया है अपने ब्लॉग के जरिये income का क्योंकि बाकि के ads प्रोग्राम बहुत कम या उतने कारगर नहीं होते जितना गूगल अपने पब्लिशर को भुगतान करता है उनके ब्लॉग या वेबसाइट पर ads शो करने के लिए इसलिए कोई भी सफल ब्लॉगर हमेशा यह चाहेगा कि उसके ब्लॉग के लिए गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) का  Approval मिल जाये ताकि वो अपने ब्लॉग के जरिये पैसे कम सके लेकिन क्या आप जानते है गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) के लिए Google को मिलने वाली एप्लीकेशन में से बहुत कम होती है जो Google अपने Ads Network के लिए एक्सेप्ट करता है क्योंकि बहुत अधिक संख्या में applications आती है और उनमे से कुछ एक ही accept की जाती है | और अब तो गूगल हिंदी ब्लोग्स भी सपोर्ट करने लगा है इसलिए आप अगर किसी हिंदी blog का सञ्चालन करते है तो आप भी गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) के लिए अप्लाई कर सकते है  और Google Adsense के लिए  Approval मिलना जितना मुश्किल लगता है उतना है नहीं अगर आप सही तरीके से अप्रोच करते है तो आईये कुछ tips के बारे में बात करते है जिनसे बड़ी आसानी से आप  Approval पा सकते है   –

गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) tips in Hindi

कम से कम कितनी पोस्ट हो :  अगर आप वर्डप्रेस पर आधारित ब्लॉग चला रहे है तो इतना ध्यान रखें कि apply करने से पहले आपके ब्लॉग पर कम से कम 40 क्वालिटी पोस्ट होनी चाहिए और साथ ही कुछ आर्टिकल ऐसे भी होने चाहिए जो 2000 वर्ड्स से ऊपर के हो ध्यान रखे आपका कंटेंट जो है वो ही आपकी वेबसाइट का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है इसलिए यह कंही से कॉपी किया हुआ नहीं होना चाहिए नहीं तो आपकी वेबसाइट के लिए गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) आपको अपने प्रोग्राम के लिए रिजेक्ट कर सकता है और अगर आप कोई दूसरा CMS (कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम) इस्तेमाल कर रहे है तो आपकी वेबसाइट में कम से कम 50 पेजेज होने चाहिए |

प्रतिबंधित विषय : ध्यान रखे apply करने से पहले सुनिश्चित करले कि आपकी वेबसाइट पर उपलब्ध कंटेंट ऐसा नहीं हो जो गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) की पालिसी में नहीं आता हो जैसे कि Gambling और कमोतेज्जक सामग्री के लिए गूगल ads नहीं सपोर्ट करता है इसलिए इस बात का ध्यान रखे और आपकी वेबसाइट अगर  Health, Internet Marketing, Business, Law, Technology, Entrepreneurship जैसे विषयों पर तो आपकी एप्लीकेशन के एक्सेप्ट होने के चांसेस बढ़ जाते है अगर आपके वेबसाइट या ब्लॉग पर इन सब विषयों से रिलेटेड अच्छी क्वालिटी वाली पोस्ट है तो |

कोई अन्य थर्ड पार्टी विज्ञापन प्रोग्राम : चूँकि गूगल आपकी वेबसाइट पर कुछ अन्य पब्लिशर  Infolinks, Chitika को भी सपोर्ट करता है लेकिन जब आप इसके लिए अप्लाई कर रहे हो तो इस बात का ध्यान रखे कि आपकी वेबसाइट पर उस समय में कोई भी Third Party Ads or Programs से जुड़े ads नहीं होने चाहिए क्योंकि first इम्प्रेसन आपका जितना अच्छा होगा उतना ही कम समय आपको अप्रूवल में लगता है |

गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) hindi
गूगल एडसेंस ( Google Adsense )

वेबसाइट डिजाईन और यूजर फ्रेंडली :  एक बार हमेशा ध्यान रखे गूगल हमेशा इस बात का ख्याल रखता है कि जो वेबसाइट उसके सर्च इंजन के द्वारा यूजर को दी जा रही है वो कम से कम उसका यूजर के लिए अनुभव अच्छा हो और इसीलिए यह बात भी मायने रखती है कि आपकी वेबसाइट का डिजाईन केसा है और उसका लोडिंग टाइम कितना है जितना आपकी वेबसाइट यूजर फ्रेंडली होगी उतना ही गूगल आपकी वेबसाइट को प्राथमिकता देगा और हो सकता है पहली ही बार मैं आपकी .. के लिए एप्लीकेशन एक्सेप्ट हो जाये इसलिए इस बात का ख्याल रखे कि आपकी वेबसाइट का लेआउट ऐसा हो जो visitors आपकी वेबसाइट पर बार बार आना पसंद करें | इसके लिए आप किसी कोई पेड थीम खरीद सकते है जिसका लोडिंग टाइम कम हो और साथ ही नेविगेट करने में भी आसानी हो |

Google Analytics Code : Google Analytics गूगल का एक ऐसा फीचर है जिसके जरिये आप अपनी वेबसाइट के लिए stats चेक कर सकते है कन्हा से आपकी वेबसाइट पर यूजर और कितने समय तक रहे और कौनसे वो पेजेज है जो आपकी वेबसाइट के अधिक लोकप्रिय है इन तमाम चीजों की जानकारी आप बड़ी आसानी से चेक कर सकते है साथ ही अगर आप Google Analytics के लिए signup करके अपनी वेबसाइट के लिए इसका इस्तेमाल करते है तो आपके लिए यह एक सकारात्मक फैक्टर होता है और आपकी एप्लीकेशन के अप्प्रोवे होने चांसेस बढ़ जाते है अगर अपने अब तक  Google Analytics के लिए अकाउंट नही बनाया है तो इसके लिए यंहा क्लिक कर बना सकते है |

Google/Bing Webmasters Verification Page: यह गूगल की एक फ्री सर्विस है जिस से कोई भी वेबसाइट ओनर बड़ी आसानी से अपनी वेबसाइट को मॉनिटर कर सकता है उसका सर्च बिहेवियर देख सकता है और उसके बाद अगर किसी तरह के एरर उसकी वेबसाइट में आ रहे है तो वो इन्हें ठीक कर सकता है और Google/Bing Webmasters में होना आपकी वेबसाइट की विश्वश्नियता बढा देता है जो एक इम्पोर्टेन्ट फैक्टर है गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) का अप्प्रोवेल लेने के लिए |

XML Sitemap Page – यह एक छोटा सा फीचर है जिसकी मदद से गूगल बोट को आपकी वेबसाइट को सर्च में इंडेक्स करने के लिए मदद मिलती है और इसमें आपको अधिक समय नहीं लगता है अगर आप वर्डप्रेस का इस्तेमाल करते है तो Google XML sitemap का इस्तेमाल कर सकते है और इसका आपकी वेबसाइट में होना भी आपके लिए गूगल एडसेंस ( Google Adsense ) के लिए पॉजिटिव facts में से एक है |

Robots.txt –यह एक ऐसा फीचर है जिसकी मदद से जो चीज़ आप गूगल में इंडेक्स करना नहीं चाहते है उसे रोक सकते है आपकी वेबसाइट में robot.txt फाइल का होना एक positive फैक्टर होता है |

Alexa Rank :यह एक विवादित विषय है क्योंकि कुछ लोगो का मानना है कि आपकी अलेक्सा रैंक को भी गूगल कंसीडर करता है जबकि कुछ कहते है ऐसा कुछ नहीं है फिर भी एक बड़े वर्ग का यह कहना है कि गूगल ये करता है इसलिए आप भी इस तरफ ध्यान दे सकते है और अपनी वेबसाइट की अलेक्सा रैंक को बढाने के लिए आप यंहा क्लिक कर एक वेबसाइट की मदद ले सकते है |

तो ये है कुछ बाते तो जो आपको गूगल एड्सेंस के लिए apply करने से पहले ध्यान में रखना आवश्यक है ताकि आप आराम से उसके लिए अप्रूवल प्राप्त कर सके आपको ये पोस्ट कैसी लगी इस बारे में अपने विचार हमे जरुर कमेन्ट के माध्यम से बताएं और साथ ही हमारी अपडेट Hindi में पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है | image source