Home Short Stories संसार की रीति और तस्वीर – Guru Shishya stories in Hindi

संसार की रीति और तस्वीर – Guru Shishya stories in Hindi

SHARE

Guru Shishya stories in Hindi – एक मशहूर चित्रकार था उसने बहुत सुंदर पेटिंग बनाई और उसे नगर के बीचो बीच लटका दिया और उस पर नीचे लिख दिया कि जिस किसी को भी इसमें कमियां नजर आये वो उस जगह पर निशान लगा दे उसने शाम को जब देखा तो बहुत दुखी हुआ क्योंकि उसकी पूरी तस्वीर पर निशान लगे हुए थे और वह पूरी खराब हो चुकी थी उसे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था कि अब वो क्या करें |

इसी “दुखी मन मेरा ” वाली स्थिति में वो बैठा था कि उसका एक मित्र उसके पास आया तो उसने उस से दुखी होने कारण पूछा तो चित्रकार ने  उस से अपनी समस्या कही | इस पर मित्र ने उसे कहा कल एक दूसरी तस्वीर बनाना और उसे भी शहर के बीचो बीच लटका देना और नीचे लिख देना कि इस तस्वीर में जिस किसी को भी कोई कमी नजर आये तो उसे ठीक कर दें | चित्रकार ने अगले दिन यही किया | शाम को जब उसने तस्वीर देखो तो बड़ा हेरान हुआ हुआ क्योंकि किसी ने तस्वीर के कुछ भी नहीं किया | वह संसार की नीति समझ गया कि किसी की कमियां निकालना आसान होता है बड़ी आसानी से लोग किसी की बुराई और निंदा करते है लेकिन उस कमी को दूर करना उतना ही मुश्किल होता है |