Home स्वास्थ्य जानिए किस किस तरह की होती है दिल की बीमारियाँ

जानिए किस किस तरह की होती है दिल की बीमारियाँ

SHARE

Heart diseases असल में कई तरह की हो सकती है लेकिन हम मूलत यही मानते है कि दिल की और खून ले जाने वाली और लाने वाली धमनियों की किसी तरह की बाधा होने पर जो stroke होता है उसके बाद दिल को दौरा पड़ता है और इन्सान को मुश्किलें होती है जबकि heart diseases असल में बहुत तरह की हो सकती है जिनके side effect और होने वाले कुप्रभाव भी अलग अलग तरीके के हो सकते है और यह ऐसा नहीं है कि ऐसे ही हो जाता है अक्सर हमे होने वाली किसी भी तरह की heart diseases में हमारे दिनचर्या और daily life का बहुत बड़ा हाथ है हमारी खानपान की आदतें हमारे health को सबसे अधिक प्रभावित करती है तो चलिए कुछ heart diseases के बारे में जानते है और कुछ और भी बातें जो आपको ध्यान में रखनी चाहिए –

Know about Heart diseases in hindi

असल में हमारी दिनचर्या को मैंने इसलिए शामिल किया है क्योंकि जितनी भी health problems होती है जो heart से related है उनमे हमारा खानपान ही सबसे अधिक मूल कारण है और खाने की आदतें सही नहीं होने की वजह से न केवल पेट से जुडी health problem होती है अपितु उसके बाद मोटापा , high Bp जैसी समस्याएं हमे घेर लेती है और चूँकि हमारी जिन्दगी में काम का महत्व और उस निर्भरता इतनी बढ़ गयी है कि हम health को उसके मुकाबले बहुत ही कम प्राथमिकता दे पाते है जिसकी वजह से काम का तनाव भी इन्ही कुछ वजहों में शामिल हो जाता है |

heart problems कई तरह की होती है और मेडिकल जगत के अनुसार से 60 से भी अधिक तरह के होते है लेकिन कुछ जो सामान्य जिनके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए वो निम्न है –

धमनी रोग /Artery Disease – heart को खून की आपूर्ति करने वाली यानि कि दिल की तरफ खून को ले जाने वाली हमारी रक्त वाहिकाएं जब कम क्षमता वाली हो जाती है या किसी वजह से वो क्षतिग्रस्त हो जाती है तो उनकी क्षमता कम हो जाती है और यह heart की हेल्थ के लिए सही नहीं है |

Heart diseases in hindi
Heart diseases in hindi

जन्मजात रोग / by Birth heart problem – जन्म से ही अगर हृदय में कुछ समस्या है और उसकी बनावट में कोई दोष है तो इस तरह की दिल की बीमारी को जन्मजात होना कहते है यह रोग की प्रकृति के अनुसार साध्य भी हो सकता है और असाध्य भी जिसका कोई इलाज नहीं भी हो | रोगी को लम्बे समय तक या उम्र भर के लिए चिकित्सा उपायों पर निर्भर होना पड़ सकता है |

अन्जईना पेक्टोरिस/Anjina pectoris – यह एक तरह के लक्षण आधारित होता है और यह स्थिति तब बनती है जब दिल को problem होती है इस वजह से कि सही मात्र में उसे खून की आपूर्ति नहीं हो रही हो तो chest में दर्द , कड़ापन और चुभन सी महसूस होने लगती है |

कार्डियोमायोपेथी – blood पंप करने वाली मांसपेशियों का कमजोर होना असल में यह तब होता है जब हमारी रक्त वाहिकाओं की क्षमता कम हो जाती है और दिल की कार्यक्षमता का उस पर पूरा पूरा फर्क पड़ता है और धीरे धीरे उसकी कार्यक्षमता पर प्रतिकूल असर पड़ता है |

इस्किमक heart problem /Iskemik heart disease  – रक्त वाहिकाओं में किसी तरह की समस्या होने पर यदि दिल को खून की आपूर्ति सही से नहीं होती है तो इसकी वजह से stroke की समस्या हो सकती है या कुछ अन्य problem हो सकती है इसे ही इस्किमक हृदय रोग की श्रेणी में रखा जा सकता है |

मायोकर्दिल इन्फेक्शन/Myocardium Infarction/रोधगलन – जब रक्त वाहिकाएं किसी वजह से सिकुड़ जाती है जिसकी वजह से blood की supply में बाधा होती है और इसी वजह से stroke भी पड़ता है और इसे ही मायोकर्दिल इन्फेक्शन कहते है |

दिल में सूजन होना/heart lumpiness – वायरल इन्फेक्शन की वजह से heart के उत्तक जो है वो क्षतिग्रस्त हो जाते है जिसकी वजह से heart के कम करने की प्रणाली पर असर पड़ता है और यह घातक भी हो सकता है |

अट्रियल फिलिब्रेशन /Atrial Fibrillation /अलिंद विकम्पन – heart में तेजी से होने वाले इलेक्ट्रिक आवेग के कारण heart की धड़कन और तंतु गडबडा जाते है जिसकी वजह से ऐसी स्थिति बनती है |

heart failure – किसी भी वजह से जब दिल की क्षमता में कमी आ जाती है और दिल सही से खून को पंप करने में सक्षम नहीं होता है तो उसे खून की आपूर्ति भी सही से नहीं हो पाती है जिसकी वजह से heart काम करना बंद कर देता है और इसे heart failure कहते है |

और भी बहुत सारी heart diseases है जिनके बारे में बात की जा सकती है और इसके सामान्य लक्षण होते है साँस लेने में दिक्कत होना ,chest pain , पैरों में सूजन और थकान जैसी स्थिति होती है और थकान इसलिए होती है कि  किसी भी वजह से जब दिल की कार्यक्षमता कमजोर हो जाती है तो ऐसे में खून की supply शरीर में सही से नहीं हो पति है जिसकी वजह थकान होती है हमे और ऐसे में आप कुछ चीजों का परहेज रख सकते है और अगर स्मोकिंग आदि करते है तो छोड़ सकते है और साथ ही मोटापा और blood pressure अधिक होने की समस्या हो तो आप इसे हल्के में नहीं ले कई तरह की छोटी छोटी बीमारियाँ आपके शरीर के लिए नुकसान देह होती है और बीमारियों का समूह आपके शरीर को खराब करके किसी बड़ी बीमारी को निमंत्रण दे सकता है |

तो ये है heart diseases in hindi और हमारी ये पोस्ट आपको कैसी लगी इस बारे में हमे comment के माध्यम से जरुर बताएं और हमारी website से hindi में अपडेट पाने के लिए आप हमारी website से फ्री ईमेल subscription ले सकते है साथ ही हमारे गूगल प्लस page को फॉलो करके हमारी साथ जुड़ सकते है |
Image Credit