Home marriage life Helicopter parent क्या है चलिए जानते है

Helicopter parent क्या है चलिए जानते है

SHARE

Life बहुत कम्पटीशन भरी है और खासकर करियर के मामले में और प्रत्येक parents चाहते है उनका बच्चा भी दुनिया की इस कामयाबी की दौड़ में सबसे आगे नहीं तो कम से कम साथ तो चले इसलिए अक्सर parents अपने बच्चो की पढाई लिखी को लेकर जरुरत से अधिक pressure बच्चो को देते है जो सही नहीं है और ऐसे माता पिता को मनोवैज्ञानिक भाषा में एक शब्द से परिभाषित किया गया है और वो है “hovering parents” यानि के helicopter parent और कुछ इस तरह से परिभाषित किया गया है कि –

helicopter parents / hovering parents in hindi

“ वो माता पिता जो जरुरत से अधिक अपने बच्चो के अनुभवों और समस्यायों पर ध्यान देते है जैसे कि उनकी पढाई -लिखाई और जिन्दगी के अन्य अनुभवों के लिए भी | “”

ऐसा क्यों होता है चलिए जानते है –

बचपन की उपेक्षा – कुछ ऐसे parents होते है जो जिनका बचपन मुश्किल भरा रहा होता है या ऐसे भी जिनमे से माता या पिता में से एक या दोनों नहीं होते है और उन्हें अपनी जिन्दगी और अपने बचपन में जो अभाव महसूस होते है वो अपने बच्चो की जिन्दगी में उनकी कमी पूरा कर देना चाहते है जिसकी वजह से parents अधिक स्नेह और प्यार के साथ साथ बच्चो की हर छोटी बड़ी बात का ध्यान रखते है |

helicopter parents
helicopter parents

सुरक्षित भविष्य की चिंता – यह एक comman सा issue है क्योंकि हर parents चाहते है जिन्दगी में उनके बेटे को या बच्चो की किसी भी तरह की करियर के मामले में परेशानी का सामना नहीं करना पड़े और चूँकि आज नौकरी और किसी भी व्यापार के मामले में भी इतनी प्रतिस्पर्धा है कि चिंता है भी लाजिमी और ऐसे में parents अपने बच्चे से जरुरत से अधिक उम्मीद करते है कि वो पढाई में सही से प्रदर्शन करें और इसी वजह से वो helicopter parents बन जाते है |

दूसरे parents को देखकर – यह भी दूसरी बड़ी comman बात है और हर बच्चा और मैं भी बचपन में इस बात को लेकर बड़ा दुखी था कि जब भी parents मिलते है ऐसी जगह जन्हा उनके बच्चे साथ होते है तो अक्सर माताएं ये दिखाने की कोशिश करती है कि मेरे बच्चे कितने आज्ञाकारी है और उनकी जिन्दगी में parents का कितना interfare है जो निहायती बेवकूफी वाली बात है और parents जब ये देखते है तो उन्हें लगता है वो भी बच्चो की जिन्दगी में इस तरह interfare करने की सोचने लगते है और उन्हें लगता है ऐसे करने से उनके बच्चे के लिए अच्छा होगा | ऐसे parents से मैं कहना चाहूँगा chill yaar ! बच्चे ही तो है |

helicopter parents होने के फायदे –

अब hovering parents होने से बच्चे के लिए कुछ फायदे भी है और नुकसान भी तो चलिए हम पहले फायदे की बात कर लेते है जो मेरे ख्याल से कम है और मैं नुकसान ज्यादा होता है इस बात के पक्ष में हूँ –

  • hovering parenting में parents को ये पता होता है कि बच्चे की जिन्दगी में चल क्या रहा है |
  • ऐसे में वो बच्चे को किसी भी गलत संगती में जाने से बचा सकते है और उचित मार्गदर्शन कर सकते है बशर्ते बच्चे उनका साथ अपनी हर बात share करने में खुद को सहज समझे और ऐसा माहौल आप आराम से तैयार कर सकते है |
  • बच्चा कन्हा है उसके दोस्त कैसे कैसे है ये भी आपको पता होता है |
  • कायदे से की गयी hovering parenting से ये भी फायदा होता है कि बच्चे को महसूस होता है कि उसके parents उस से कितना प्यार करते है ऐसे में एक good parents की image बच्चे के मन में आपके लिए बनती है |

नुकसान क्या है helicopter parents बनने के –

  • सबसे बड़ा दुष्परिणाम तो यह होता है कि बच्चे के व्यक्तित्व के विकास में आप बाधा बनते है क्योकि हर बच्चे के सवभाव एक जैसा नहीं होता है और हो सकता है आपकी जरुरत से अधिक उसकी care करना उसके लिए बाधा बन रही हो क्योंकि वो खुद से कुछ सीखता है तो यह उस से कंही अधिक अच्छा है जो धारणाएं उसके मन में आप बनाते है |
  • helicopter parents हर समय बच्चे के साथ साथ जाते है फिर चाहे exams time हो या दोस्तों के चुनाव की बात हो तो समय के साथ साथ बच्चे आपकी इस आदत के साथ असहज महसूस करने लगता है |
  • ऐसे में बच्चे को अपनी काबिलियत पर भी शक होता है और आत्मविश्वाश में भी कमी आती है कि उसके माता पिता जो उस से इतनी उम्मीदें रखते है क्या वो उन पर खरा उतर पायेगा या नहीं |

कैसे बचे helicopter parents  बनने से –

  • यह कोई बड़ी deal नहीं है आपको बस अपने अंदर छोटे बदलाव करने होते है और यह समझना होता है कि आप बच्चे के लिए जो फिजूल चिंता कर रहे है क्या ये वाकई आवश्यक है ?
  • अगर बच्चे को आपके जरुरत से ज्यादा चिंता करने की आदत से परेशानी हो रही है और उसे कुछ समय दीजिये उसे कुछ एकांत दीजिये |
  • अपने व्यवहार को एक बार खुद पर सोच कर देखिये कि अगर आप उनकी जगह होते तो आपको ऐसे में कैसे महसूस होता |
  • साथ ही उन्हें खुद को फैसले लेने की आजादी होने चाहिए आप उनके कामो के लिए केवल जरिया बने और उन्हें सोर्सेज प्रदान करें और उन्हें खुद में उस काम को करने के लिए प्रेरित होने का जज्बा विकसित करें |
  • बच्चे को अपनी गलतियों से सबक लेने दें और उन्हें चीज़े सीखने और नयी चीज़े करने के लिए प्रेरित करें और उन्हें हार को सकारात्मक और जीत को positive लेना सिखाएं |

तो ये है helicopter parents in hindi के बारे में कुछ जानकारी और  हमारी website से hindi में अपडेट पाने के लिए आप हमारे गूगल प्लस page से जुड़ सकते है साथ ही हमसे फ्री ईमेल hindi subscription भी ले सकते है और अगर आपके मन में किसी तरह का कोई सवाल या जानकारी है जो आप हमसे साझा करना चाहते है तो आप [email protected] पर ईमेल कर सकते है या skype पर पूछ सकते है | Skype -Guide2india |

Image Source – free images