Home मोबाइल वर्ल्ड How MNP Works in India in Hindi – Mobile Number Portability कैसे...

How MNP Works in India in Hindi – Mobile Number Portability कैसे काम करती है जानिए |

SHARE

Mobile Number Portability

how mnp works in india – MNP  ( Mobile Number Portability ) का मतलब है अपने mobile Operator को switch करना यानि के जैसे अगर आप Vodaphone के मोबाइल connection का इस्तेमाल करते है और किसी भी reason से आपको उसे किसी अन्य operator में लेके जाना है उदहारण के लिए Airtel में जाना है तो इस operator बदलने की प्रक्रिया को ही MNP  ( Mobile Number Portability ) कहते है |

कैसे करें MNP -MNP के लिए आपको PORT <space> Mobile Number लिखकर 1900 पर भेजना होता है उदाहरण के लिए मेरे पास अगर वोडाफ़ोन का नंबर है  9024512326 और मैं इसे किसी भी मोबाइल operator में transfer करवाना चाहता हूँ तो मुझे टाइप करना होगा ‘PORT 9024512326’ और इसे 1900 पर भेजना होता है | इसके बाद आपको एक UPC (UNIQUE PORTING CODE) प्राप्त होगा जिसे आपको नोट करके रखना होता है ये केवल 15 दिन के लिए मान्य है अर्थात एक बार UPC code के लिए request डाल देने के बाद आप प्रन्द्रह दिन के भीतर कभी भी PORTING के लिए request डाल सकते है |

उसके बाद nearest Customer service centre या फिर जिस कम्पनी में आप सिम को पोर्ट करवाना चाहते है उसके रिटेलर के पास जाकर MNP का एप्लीकेशन फॉर्म भरे और connection के लिए आवश्यक दस्तावेज उसे देवें | क्योंकि MNP में भी हमे  Identity, Address Proof and Photograph देने होते है जैसा हम नयी सिम लेते हुए Formalities पूरी करते है |

रिटेलर आपको एक खाली सिम देगा और आपके नंबर पर जिसे आप पोर्ट करना चाहते है document के submission के बाद आपको MNP request का कन्फर्मेशन message मिल जायेगा |

अमूमन 7 दिन या इस से कम समय में आपकी port request स्वीकार हो जाती है या कुछ cases में अधिक समय भी लग सकता है और आपको आपकी सिम port होने से कुछ समय पहले एक message के द्वारा आपकी सिम के port होने के समय और date के बारे में बता दिया जाता है | जब आपकी पुराने operator के साथ काम करने वाली सिम में network आना बंद हो जाये तो आप अपनी नयी सिम जो रिटेलर ने आपको दी होती है उसे अपने phone में डाल ले अब आपका वही पुराना नंबर अपने नये network के साथ आपके phone में होगा |

ध्यान दें – आप अगर एक बार अपनी सिम को किसी दूसरे network में लेकर जाते है तो उसी network operator में आपको कम से कम से 3 महीने रहना अनिवार्य है उस से कम समय में आप अपनी सिम दोबारा किसी अन्य operator के लिए port नहीं करवा सकते है | फ़िलहाल MNP केवल एक ही circle के लिए उपलब्ध है जैसे कि अगर आपका number दिल्ली का है तो आप दिल्ली सर्कल के ही किसी operator में अपनी सिम को port करवा सकते है जबकि आने वाले समय में ऐसा संभव है कि किसी भी सर्किल का नंबर किसी भी सर्किल में port करवाया जा सकेगा |

वैसे prepaid सिम के लिए MNP करवाना postpaid सिम के मुकाबले कंही आसान होता है वो इसलिए क्योंकि postpaid सिम के लिए MNP करवाते समय आपको कुछ बातें ध्यान रखनी होती है वो ये है

  •  आपको सिम port होने से पहले पहले अपने सारी बकाया राशी को clear करना होता है नहीं तो जिस operator में से आप जा रहे है वो आपकी porting request रिजेक्ट कर सकता है |
  • इस दौरान आपका current operator आपको कॉल करके आपको current operator के साथ आ रही समस्याओं के बारे में पूछता है और हो सकता है आपको बेहतर services का प्रलोभन भी मिले |
  • इसके बाद भी अगर आप MNP करवाना चाहते है तो लगभग 10-14 दिन के भीतर आप अपनी postpaid सिम को किसी अन्य operator में port करवा पाते है |
how mnp works in india
how mnp works in india

 

 

जबकि prepaid नंबर के लिए आपको इतनी परेशानी नहीं उठानी होती और न ही इतना समय लगता है क्योंकि किसी भी postpaid नंबर के port हो जाने से आपके current operator के revanue में बहुत फर्क पड़ता है लेकिन prepaid नंबर से ऐसा कोई खास फर्क नहीं पड़ता है इसलिए वो आसानी से port करवाए जा सकते है |

 

अधिक जानकारी के लिए ट्राई की website पर नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करें | trai क्या है इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप यंहा क्लिक करें |

http://www.trai.gov.in/WriteReadData/userfiles/file/measuresto%20protectconsumerinterest/Customer_Guide.pdf

 

 

ये जानकारी आप नीचे दिए गये प्रिंट button से प्रिंट भी कर सकते है और ये जानकारी आपको कैसी लगी इस बारे में हमे नीचे कमेन्ट कर अवश्य बताये |