Home जिन्दगी का सलीका कान का कच्चा होना हो सकता है नुकसानदायक

कान का कच्चा होना हो सकता है नुकसानदायक

SHARE

kaan ka kacha hona – कान का कच्चा होना न केवल एक मुहावरा है बल्कि एक तरह से एक सच्चाई भी है हम से बहुत लोग कान के कच्चे होते है और महिलाएं तो महिलाएं पुरुष भी इसका शिकार होते है | ” असल में कान का कच्चा होने से मतलब है बिना सच्चाई जाने ही किसी के द्वारा कही गयी बात का भरोसा कर लेना फिर चाहे सामने वाले का उद्देश्य कुछ भी हो |” यही वजह कि कई बार नए तो नए पुराने रिश्तों में भी किसी एक की इस आदत की वजह से खटास आ जाती है |

क्यों सही नहीं है कान का कच्चा होना 

एक घटना के माध्यम से मैं आपको स्पष्ट करता हूँ मैं अगर D हूँ और  मेरे दो मित्र है A और B जो मेरे लिए एकदम समान लेवल की दोस्ती पर है लेकिन फिर भी उनकी आपस में बिलकुल नहीं बनती है और जब कभी मैं दोनों में से किसी एक B के पास  जाता हूँ तो वंहा बैठा हुआ कोई भी E शख्श जो हमारी तीनो की इस अजीब सी दोस्ती से जलता होगा वो A के पास जाकर कहता है कि मैंने उसे D को तेरे बारे में B के साथ बुराई करते हुए सुना | तो ऐसे में अगर मेरा मित्र A कान का कच्चा नहीं है तो विवेकपूर्ण तरीके से व्यव्हार करते हुए बात के पीछे की वजह को मुझसे clear करना चाहेगा और लेकिन अगर वो कान का कच्चा है तो मुझसे बिना कुछ कहे ही अपने मन में मेरे लिए दूरियां रखने लगेगा और एक समय ऐसा आएगा जब हम मन से बिना कुछ सार्थक वजह से अलग अलग हो जाते है जबकि आप देखें वजह कुछ भी नहीं थी |

kaan ka kacha hona  कान का कच्चा होना
kaan ka kacha hona कान का कच्चा होना

केवल वो लोग जो E के जैसे है वो मेरा या किसी का भला नहीं चाहते है और कान के कच्चो की तलाश में रहते है और मौका मिलते ही खुद के मनोरंजन के लिए वो अपनी चाल चलते है और लोग आपस में मनमुटाव करते है जिसे देखकर उन्हें आत्मसंतुष्टि होती है | लेकिन सोचिये कौन कन्हा गलत है ?? क्या E वाकई में गलत है और चलिए मान भी लें कि E गलत है तो क्या हम उसके स्वाभाव को बदल सकते है ?? सोचिये …तो हाँ बदल सकते है लेकिन हमे जरुरत क्या है क्या उस से अधिक आसानी से A अपने “कान के कच्चे होने की ” आदत को नहीं बदल सकता क्या A की भी उतनी ही गलती नहीं है ?? आप कहेंगे हाँ बिलकुल A गलत है वरन वो E से भी अधिक गलत है | इसलिए क्योंकि उसने सुनी सुनाई बातों की वजह से वो भरोसा नहीं रखा जो किसी भी रिश्ते की बुनियाद होती है |

कान के कच्चे होने की वजह से आप कई बार बहुत गहरी और पुरानी दोस्ती को खो सकते है या पति पत्नी के लिए भी मुश्किल होता है जब दोनों में कोई एक कान का कच्चा हो तो अगर कोई कहता है कि मेने तुम्हारे पति को रेस्तरा में किसी लड़की के साथ देखा या इसका उल्टा तो दोनों में अगर परस्पर भरोसा नहीं होता है तो छोटी दूरियों की खाई बड़ी होती जाती है और रिश्ता बिखरने लगता है | कम से कम अपने जीवनसाथी से इस बारे में बात करें और उसे सफाई का मौका तो दें |

ध्यान दें कुछ लोग हमारे आस पास होते है जिन्हें हमारी शांति बर्दाश्त नहीं होती है इसलिए वो किसी भी बात को बतंगड़ बनाकर आपके लिए मुसीबतें खड़ी करने की कोशिश करते है इसलिए कान के कच्चे नहीं बल्कि पक्के बने |

आपको ये पोस्ट ” kaan ka kacha hona – कान का कच्चा होना हो सकता है नुकसानदायक  ” कैसी लगी इस बारे में अपने विचार हमे कमेन्ट के माध्यम से दें और updates पाने के लिए हमारे Facebook पेज को लिखे करें | Image Source