Home महान पुरुष दोषारोपण की पीड़ा – Mahatma gandhi childhood in hindi Story

दोषारोपण की पीड़ा – Mahatma gandhi childhood in hindi Story

SHARE
  1. Mahatma Gandhi – Mohandas Karamchand Gandhi, also known as Bapu, was the preeminent leader of Indian independence movement in British-ruled India.
  2. Born: October 2, 1869, Porbandar
  3. Assassinated: January 30, 1948, New Delhi
  4. Spouse: Kasturba Gandhi (m. 1883–1944)
  5. Parents: Karamchand Gandhi, Putlibai Gandhi
  6. Awards: Time’s Person of the Year
    Mahatma gandhi childhood in hindi Story
    Mahatma gandhi childhood in hindi Story

Mahatma gandhi childhood in hindi Story पहले ऐसा था कि सभी स्कूलों में बालकों को खेल गतिविधि में हिस्सा लेना जरुरी होता था और ऐसा ही नियम राजकोट के उस स्कूल में भी था जिसमे महात्मा गाँधी पढ़ा करते थे |

गांधीजी को खेलो में कोई रूचि नहीं थी लेकिन फिर भी स्कूल के नियमो का पालन करने के लिए और खेलों में अनुपस्थिति के लिए दण्डित न किया जाये इसी के भय से वो खेलों में जाते अवश्य थे | एक शनिवार को प्रात काल का स्कूल था और खेलों का समय था शाम के चार बजे | बालक गांधीजी के पास न तो घड़ी थी और न ही कोई तरकीब जिस से समय का ठीक ठीक ज्ञान हो सके और ऊपर से आकाश में बादल छाये हुए थे जिसके कारण उन्हें समय का सही से ज्ञान नहीं हो सका और वो समय पर नहीं पहुच पाए |

जब वो देरी से स्कूल में पहुंचे तो प्रधानध्यापक ने उनसे देरी से आने का कारण पूछा तो उन्होंने सही से जो बात थी सब सच सच बता दिया | किन्तु प्रधानाध्यापक को उनकी बात का कोई भरोसा नहीं हुआ और उन्होंने बालक गांधीजी पर एक आना जुरमाना लगा गया |

गाँधी रो पड़े  | उनके एक मित्र ने गाँधी से कहा कि बस मोहन एक आना जुर्माने से ही रो पड़े जबकि तुम्हारे पिता तो बहुत अमीर आदमी है | गांधीजी ने जवाब दिया कि मैं इसलिए नहीं रो रहा मेरे मित्र कि मुझ पर प्रधानाध्यापक ने जुरमाना लगाया है जबकि मैं तो इसलिए रो रहा हूँ कि मुझे झूठा समझा गया है |

 

ये कहानी Mahatma gandhi childhood in hindi Story आपको कैसी लगी इस बारे में अपने विचार मुझे अवश्य इस कमेन्ट के माध्यम से दें और अगर आपके पास भी कोई कहानी तो हमे [email protected] पर भेजें उसे आपके नाम और ईमेल के साथ यंहा प्रकाशित कर दिया जायेगा |