Home सोशल इशू marital rape मेरिटल रेप के लिए कानून भारत में

marital rape मेरिटल रेप के लिए कानून भारत में

SHARE

मेरिटल रेप (marital rape) के लिए कानून (law) की हम बात करें उस से पहले यह जान लेना भी जरुरी है कि आखिर मेरिटल रेप है क्या और चूँकि भारत के सांस्कृतिक दबाव के चले लगभग लगभग महिला के लिए उसी स्तर को प्राप्त करना मुश्किल होता है जो दर्जा पुरुष को प्राप्त है इसलिए मेरिटल रेप (marital rape) न केवल एक समस्या है जबकि महिलाओं के लिए ऐसी पीड़ा (pain) है जिस से उबर पाना देश (India) के कानून के अनुसार तो समभव नहीं है हाँ सामाजिक स्तर (on social level) पर यह संभव हो सकता है |

Marital rape law in india hindi

क्या है मेरिटल रेप (marital rape)– असल में शादी (marriage) के बाद बिना पत्नी की मर्जी के उसके साथ सेक्स सम्बन्ध (sexual relations) बनाना ही मेरिटल रेप के दायरे में आता है और चूँकि भारतीय कानून के अनुसार मेरिटल रेप (marital rape) अपराध नहीं है इसलिए इस बारे में अधिक कुछ करने में महिला (women) अक्षम ही होती है आप इस बारे में अधिक जानकारी के लिए यंहा क्लिक कर मेरिटल रेप के बारे में और जानकारी प्राप्त कर सकते है |

  • मेरिटल रेप (marital rape) के लिए दुनिया भर के कुछ देशो में इसे अलग अलग कानून है कंही पर इसे अपराध माना गया है जबकि कंही पर इसे भारत (India) की तरह एक आपसी मसला बता कर और मानकर इसके लिए कोई प्रभावी कानून (effective laws) नहीं है तो चलिए देखते है दुनिया भर में कन्हा क्या क्या कानून है –
  • अमरीका में साल 1993 में शादी के बाद बलात्कार को अपराध माना गया है और बिना महिला की मर्जी से सेक्स सम्बन्ध बनाने पर जुर्म साबित होने पर वंहा के कई राज्यों में सात साल से अधिक की सजा का प्रावधान है और साथ ही पचास हजार डॉलर जुरमाना भी भरना पड़ सकता है |

    marital rape law in india
    marital rape law in india
  • कुछ देश ऐसे भी जन्हा आज से बहुत समय पहले यानि के पच्चास साल पहले ही मेरिटल रेप (marital rape) को अपराध (crime) घोषित करके कई तरह के कानून बनाये गये है उनमे से कुछ है  पोलेंड रूस ,नोर्वे और स्वीडन |
  • युगोस्लाविया और इजरायल आदि देशो में भी 70 के दशक के आस पास मेरिटल रेप (marital rape) के लिए कानून की व्यवस्था कर दी गयी थी और 80 के दशक में ऑस्ट्रेलिया कनाडा और आयरलैंड में भी कानून (law) बन गये |
  • ऑस्ट्रिया में 1972 में मेरिटल रेप (marital rape)को एक अपराध मान लिया गया और सन 2008 में इसे स्टेट अपराध के तौर पर मान लिया गया |
  • स्विट्जरलैंड में भी 1992 में मेरिटल रेप (marital rape) के खिलाफ कानून (law) बना और इसके बाद 2008 में इसे स्टेट अपराध (state crime) मान लिया गया |
  • स्पेन में भी 1992 के अदालती मामले में वंहा की सुप्रीम कोर्ट ने फेसला दिया की शादी के बाद सेक्स जो है वो पार्टनर की सहमती के साथ ही होना चाहिए और शादी जैसे रिश्ते में निजी आजादी का हनन नहीं होना चाहिए |
  • बेल्जियम में भी 1979 में एक मामले में अपील को स्वीकार करते समय मेरिटल रेप (marital rape)को अपराध के दायरे में रखा गया और बाद में कानून (law) का विस्तार हो जाने के बाद इसे भी बलात्कार की अन्य श्रेणियों के रख दिया गया और वंहा भी शादी (after marriage) के बाद बिना सहमती के जोर जबरदस्ती से किये गये सेक्स के लिए सजा का प्रावधान है |
  • फ्रांस में भी 1990 में एक मामला अदालत में आया जिसमे एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने के बाद उस से बलात्कार किया था ऐसे में अदालत ने उस व्यक्ति को बलात्कार (rape) का दोषी माना और 1992 में उसे सजा सुनते हुए ये कहा कि अगर कोई व्यक्ति यह साबित नहीं कर सके कि पत्नी के साथ हिंसा उसकी मर्जी से हुई थी तो शारीरिक सम्बन्ध को बलात्कार मानते हुए सजा का प्रावधान होगा | उसके बाद 2006 में कानून (law) का विस्तार हो जाने पर सिविल ,शादीशुदा या साथ रहने वाले लड़का लड़की में अगर बिना सहमती के सेक्स सम्बन्ध स्थापित होते है तो इसे बलात्कार की श्रेणी में माना गया |
  • जर्मनी में महिला मंत्रियो और महिलाकार्यकर्ताओं ने मेरिटल रेप कानून (marital rape law)  को अमलीजामा पहनने के लिए 25 साल की कानूनी लड़ाई लड़ी और आखिर में 1997 में बलात्कार से जुड़े कानून में संशोधन हुआ |
  • यूरोप के कई देशो में में भी मेरिटल रेप (marital rape)को गैरकानूनी माना गया है और थाईलैंड और नेपाल में भी मेरिटल रेप (marital rape)गैरकानूनी है |

तो ये है मेरिटल रेप (marital rape) से जुड़े कुछ अलग अलग देशो के कानून hindi में और हमारी वेबसाइट से hindi में अपडेट पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है | image source