Home marriage life क्या आप तैयार है शादी के लिए ??

क्या आप तैयार है शादी के लिए ??

SHARE

जिन्दगी में शादी (marriage) करना एक अहम् फैसला है क्योंकि उसमे आप किसी भी शख्श के साथ अपनी पूरी जिन्दगी (life) बिताने की सोचते है और यही वजह किसी शादी (marriage) में जाने के लिए तैयार होने के मुकाबले शादी करना और उसके लिए खुद को मानसिक तौर पर तैयार करना  कंही अधिक कठिन होता है | एक भारतीय होने के नाते यंहा शादी (marriage) न केवल एक पवित्र रिश्ता होता है बल्कि साथ निभाने के लिए एक वादा होता है जिस पर शादी (marriage) कब बाद की दुनिया (Life) कायम होती है |

यह कुछ ऐसा ही है जैसे कि आप किसी पेड़ (Plant) को उगाते है और उस से पहले आप एक गड्ढा खोदते है और मिटटी को इस तरीके से तैयार करते है कि आपका लगाया जाने वाला पौधा सही तरीके से उसमे ग्रो कर सके और अगर शादी (marriage) की हम बात करते है तो यह रिश्ता ठीक उसी तरह होता है जिस तरह वो पौधा जिसके बड़े होने के लिए आप मिटटी तैयार करते है और उसके जैसा वातावरण बनाते है जैसा उसे चाहिए होता है और न केवल एक बार आप ऐसा करते है बल्कि उसे बड़ा करने के लिए समय समय पर उसमे पानी डालते है | ठीक इसी तरह शादी (marriage) का रिश्ता होता है न केवल एक बार आपके करने से रिश्ता (Relation) कायम हो जाता है बल्कि आपको इसे सही मायने देने के लिए समय समय पर प्यार (Love) और केयर (Care) से सींचना पड़ता है |

Prepare Yourself For Marriage Life Hindi
Prepare Yourself For Marriage Life Hindi

शादी करने से पहले कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें

पैसे को कैसे मैनेज करना है/Manage Money – हालाँकि लोग कहते है ” पैसा (Money) आपकी खुशियाँ नहीं खरीद सकता ” लेकिन एक हद तक यह स्टेटमेंट गलत है क्योंकि पैसा एक टूल है जिस से आप अपनी और अपने पार्टनर की जरुरत के लिए वो सारी चीज़े खरीद सकते है जिसकी उसे जरुरत है नहीं तो आपकी सुविधा के लिए टेलीफोन बिजली और अन्य जरुरत की चीजों के बिल कैसे भरेंगे आप और लोगो से जुड़े रहने के लिए और जिन्दगी को जीने के लिए यह सब चीज़े जरुरी है और इसके लिए शादी से पहले आपका वित्तीय रूप से इतना तो स्ट्रोंग होना जरुरी है कि आप अपनी जरुरत की चीजों को खरीद सकें | शादी के बाद भी यह उलझन कायम रहती है कैसे खर्च करें कितना करें ?? तो इसके लिए सबसे अच्छी सलाह यही है कि जब तक आप दोनों की चीज़ पर खर्च करने के लिए एक साथ सहमत नहीं हो तो यह सही है आप इन्तजार ही करें |

एक दूसरे को समझे/Mutual Understading  – सफल शादी के लिए जरुरी है आपको पता होना चाहिए आपका पार्टनर किस तरीके से सोचता है और चीजों के लिए कैसे रियेक्ट करता है इसलिए यह जरुरी है न केवल आप उसके साथ समय बिताएं क्योंकि आप उनसे कैसे बात करते है और किस तरह से उनकी बातों के लेते है यह ऐसा नहीं जो आपको एक ही दिन में आ जाये और न ही हमे स्कूल में कभी रिश्तो के बारे में कैसे उन्हें डील किया जाये ये सिखाया जाता है | communication skills को बेहतर करने के लिए आप अच्छी किताबे पढ़ सकते है लोगो की जिन्दगी (Life) के अनुभवों से सीख सकते है | खुद के बारे में जानना कठिन होता है और खुद के बारे में कह पाना उतना ही मुश्किल और हम जो अपने बारे में जानते है असल में वो हमारे आस पास के लोगो के लिए हम जो है उनकी अपनी राय है इसलिए शादी शुदा जिन्दगी (Married Life) में हमारा साथ हमे खुद को जानने में मदद करता है |

परमेश्वर से साथ एक रिश्ता कायम करें /Relationship with God – शादी का रिश्ता एक भावनात्मक रिश्ता है और अगर आप भगवान् (God) में विश्वाश करते है तो ये जानना भी जरुरी है कि ” अगर कोई हमे बनाने वाला है और हम उसके बारे में नहीं जानते तो ये भी संभव नहीं है कि हम अपने बारे में जान पायें ” इसलिए भगवान् के साथ अपना रिश्ता (Relation) कायम करें | जैसा कि अक्सर प्यार करने वाले कहते है कि ” तुम्हारे आने से ऐसा है जैसे मैं पूरा हो गया हूँ ” तो ऐसा कुछ नहीं होता है हम शादी करके एक दूसरे को पूरा नहीं करते है बल्कि हम एक दूसरे के पूरक (complement) होते है जिनमे से एक के बिना हम हमेशा अधूरे होते है |

आपको ये पोस्ट हिंदी (Hindi) में कैसी लगी इस बारे में अपनी राय हमे कमेन्ट के माध्यम से बताएं और साथी हमारी अपडेट हिंदी (Hindi) में पाने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है | Image Source