Home General Knowledge नैनो टेक्नोलॉजी क्या है जानिए कुछ रोचक जानकारियां

नैनो टेक्नोलॉजी क्या है जानिए कुछ रोचक जानकारियां

SHARE

Nanotechnology की बात करें तो यह हमारी life में अब हर कंही है और यह कोई नई तकनीक नहीं है क्योंकि यह हमारे बीच में ही थी पर पहले कभी इस बारे में ज्यादा शोध कार्य नहीं हुए थे जिस स्तर पर अभी के दौर में हो रहे है | असल में पहले के जमाने में सूक्ष्म कणों को देखने के लिए और उन पर काम करने के लिए आज के जितने साधन भी नहीं थे इस वजह से उनके बारे में अधिक समझ पाना संभव भी नहीं था लेकिन अभी विज्ञानं इतना उन्नत हो गया है कि वो इस दिशा में काम कर रहा है और रोज नये तरह के शोध हो रहे है जिसकी वजह से इस तकनीक को यानि Nanotechnology को एक नई दिशा मिली है तो चलिए जानते है इसी बारे में कुछ और information –

Nanotechnology in hindi

Nanotechnology के शुरूआती प्रयोग के प्रमाण जो है वो मिलते है रोम में चौथी सदी में बनाये जाने वाले रंग बिरंगे कांच के प्यालो और बर्तनों में क्योंकि कांच रंगहीन होता है और और ऐसे में सोने और चांदी के नैनो कणों का उपयोग करते हुए उन्हें रंग बिरंगा किया जाता है जो उन्हें बड़ा आकर्षक रूप दे देते है |

क्यों कहते है इसे नैनोटेक्नोलॉजी – असल में इसे नाम से ही स्पष्ट है कि यह छोटे कणों के बारे में बात की जा रही है चूँकि ऐसे में छोटे कणों की तकनीक का इस्तेमाल दैनिक जिन्दगी को आसान करने के लिए किया जाता है जिसके बहुत सारे अनुप्रयोग है जिसकी वजह से इसे नैनोटेक्नोलॉजी नाम दिया गया है क्योंकि नैनो एक आकार का माप है जिसमे हम किसी कण की मोटाई को मापते है और नैनो आकार के कण बहुत ही सूक्ष्म होते है जिन्हें हम आँखों से देख ही नहीं सकते और जिस चीज को हम देख नहीं सकते उस पर शोध कार्य करना संभव ही नहीं होता लेकिन जैसे ही 1981 में एक वैज्ञानिक बिनिगन रोरार के द्वारा स्केनिंग इलेक्ट्रॉन सूक्ष्मदर्शी का आविष्कार किया गया वैसे ही यह संभव हो गया कि हम 40-50 माइक्रॉन से भी छोटे कणों को देख पायें |

Nanotechnology in hindi
Nanotechnology in hindi

हमारी आंख जो होती है वो इस से छोटे कणों को देख पाने में संक्षम नहीं होती है लेकिन स्केनिंग इलेक्ट्रॉन सूक्ष्मदर्शी के आविष्कार के बाद बेहद छोटे कणों को देख पाना भी संभव हो गया जिस से यह सम्भावना बढ़ गयी कि हम उनका अध्ययन भी कर पायें जिसके बाद नैनो तकनीक के विकास में बेहद रोमांचक तरीके से बदलाव हुआ |

Nanotechnology का उपयोग – Nanotechnology की सामान्य जिन्दगी में अनुप्रयोग के लिए असीमित संभावनाएं है क्योंकि सामान्य पदार्थ की अवस्था में उसके जो गुण होते है वो गुण उसे नैनो रूप से अलग होते है और नैनो कणों की क्रियाशीलता भी अधिक होती है | जिसकी वजह से नैनो आकर में पदार्थ को नियंत्रित करके कई ऐसे अनुप्रयोग किये जा सकते है जो सामान्य दशा में संभव नहीं होते | नैनो तकनीक के कुछ उल्लेखनीय निम्न  उपयोग है जो वर्तमान में किये जा रहे है –

  • नैनो तकनीक से खाद बनायी जा सकती है जिस से फसल की उत्पादन मात्रा को बढ़ाया जा सकता है |
  • नैनो तकनीक का उपयोग हमारे कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक devices में बहुत पहले से ही हो रहा है उदाहरण के लिए कंप्यूटर के सर्किट और प्रोसेसर को बनाने के लिए सिलिकॉन का इस्तेमाल किया जाता है जो कि एक अर्धचालक है |
  • अभी नये तरीके के जो बल्ब आएंगे उनमे भी नैनो तकनीक का इस्तेमाल होगा जिसकी वजह से न केवल वो बिजली की खपत कम करेंगे बल्कि रौशनी भी अधिक हुआ करेगी |

तो ये है Nanotechnology in hindi और अधिक information के लिए आप नीचे कमेन्ट कर सकते है साथ ही हमारी वेबसाइट से hindi update पाने के लिए आप हमें फेसबुक और गूगल पर फॉलो कर सकते है या ईमेल पर पोस्ट पाने के लिए हमसे फ्री में ईमेल subscription भी ले सकते है |

Image Source – demo pic