Home General Knowledge अपनी कम्पनी ऐसे शुरू कर सकते है आप ?

अपनी कम्पनी ऐसे शुरू कर सकते है आप ?

SHARE

One Person Company (OPC) एक तरह से bussiness शुरू करने और उसे register करवाने का नया रूप है जिसे सन 2013 में The Companies Act, 2013 के रूप में सामने लाया गया और यह नव युवाओं के लिए एक नया और आसान रास्ता है business को शुरू करने का जिसमे आपको बहुत लोगो पर निर्भर नहीं होना होता है जैसे कि पारम्परिक तरह की कंपनीज को register करवाते समय होता है तो चलिए इसी बारे में थोड़ी और बात करते है और जानते है कि OPC register करवाने के क्या नफे नुकसान है –

One Person Company (OPC) details in Hindi

OPC register करवाने से पहले अगर आप इसके कुछ बुनियादी चीजो पर गौर कर लेते है तो आपके लिए यह आसान हो जाता है तो चलिए सबसे पहले इसके features के बारे में बात करते है जो है –

  • सबसे पहला जो खास बात है और जिसकी वजह से इसे OPC कहा जाता है वो है कि इस तरह की कम्पनी की स्ट्रक्चर में केवल एक ही शेयरहोल्डर हो सकता है |
  • शेयरहोल्डर अपने बाद किसी व्यक्ति को नॉमिनी घोषित कर सकता है जो उसकी आकस्मिक मृत्यु या अन्य स्थिति में उस कम्पनी का शेयरहोल्डर बन सके |
  • OPC में कम से कम एक डायरेक्टर होता है और अधिकतम यह पन्द्रह हो सकते है , एक शेयरहोल्डर भी खुद को डायरेक्टर घोषित कर सकता है |

one person company hindi opc

तो ये तो है One Person Company के बारे में कुछ बातें और अब अगर Restrictions की बात करें तो वो ये है –

  • एक person जो OPC रजिस्टर करता है वो उसी तरह की दूसरी कम्पनी को रजिस्टर नहीं कर सकता है | और ना ही ऐसी किसी कम्पनी में नॉमिनी हो सकता है जो OPC के अंतर्गत आती हो |
  • माइनर person ऐसी कम्पनी में ना तो शेयरहोल्डर हो सकता है और ना ही नॉमिनी बन सकता है |
  • OPC को बाद में किसी ऐसी कम्पनी में नहीं बदला जा सकता जो company under Section 8 of the Act के अंतर्गत ( गैर लाभकारी कम्पनी ) आती हो  |
  • OPC ऐसी किसी लेन देन में शामिल नहीं हो सकती जो गैर-वित्तीय प्रकृति की हो 

कैसे रजिस्टर करें OPC – OPC रजिस्टर करने के निम्न steps है –

  1. सबसे पहले कम्पनी में जो डायरेक्टर के लिए Digital Signature Certificate [DSC] चाहिए होता है |
  2. इसके बाद Digital Signature Certificate [DSC] के लिए रजिस्टर करना होता है |
  3. उसके बाद आप जो अपनी कम्पनी का नाम रखना चाहते है वो decide करने के बाद वह नाम पहले से रजिस्टर है या नहीं इस बारे में जानने के लिए Ministry of Corporate Office में आवेदन करना होता है |
  4. उसके बाद कुछ औपचारिकतायें पूरी करने के बाद आप अपनी OPC के लिए रजिस्टर कर सकते है |

वैसे किसी भी इंडिविजुअल के लिए OPC रजिस्टर करना एक पेचीदा काम हो सकता है इसलिए अगर आप चाहे तो मार्किट में ऐसी बहुत से Firms है जो इसमें आपकी मदद कर सकती है आप इस बारे में google करके और जानकारी ले सकते है |

तो ये है One Person Company (OPC) details in Hindi और इस बारे में यदि आपके पास कोई सवाल है तो आप हमे ईमेल कर सकते है और हमारी वेबसाइट से regular updates पाने के लिए आप हमे फेसबुक पर फॉलो कर सकते है या ईमेल सब्सक्रिप्शन भी ले सकते है |

Image Source – demo pic