Home Banking Knowledge बैलेंस जीरो होने पर भी कैसे करें एकाउंट से लेन देन?

बैलेंस जीरो होने पर भी कैसे करें एकाउंट से लेन देन?

SHARE

Overdraft Facility के बारे में अपने सुना होगा और यह एक banking term है जो बैंक खातों के सम्बन्ध में प्रयुक्त होती है और आप जब भी इन्टरनेट पर किसी bank की वेबसाइट पर देखते है तो अपने देखा होगा वंहा पर अलग अलग खातों के बारे में में जानकारी लेते है तो वंहा पर लिखा होता है कि कौनसे खाते पर Overdraft Facility उपलब्ध है और कौनसे पर नहीं तो चलिए जानते है कि यह होती क्या है और किस तरह से इसका लाभ मिलता है तो चलिए बात करते है –

Overdraft Facility details in hindi

Overdraft Facility असल में कोई बैंक business account या current account पर देता है और इसमें bank ग्राहक को सुविधा देता है कि अगर उसके bank account में उपलब्ध फण्ड पूरा नहीं हो तो भी bank एक लिमिट तक ग्राहक को transaction करने की अनुमति देता है | अगर सिंपल भाषा में कहें तो यह इस तरह से होता है कि मान लीजिये अगर आपके पास current account है और उस पर आपको ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी मिली हुई है तो आप उस केस में भी लेन देन कर सकते है जब आपके account में डेबिट होने वाली राशी जो है वो आपके खाते में उपलब्ध राशी से अधिक भी हो |

Overdraft facility Hindi

Overdraft Facility में bank के द्वारा ओवरड्राफ्ट के लिए अधिकृत लिमिट जो है वो आप और बैंक के बीच कुछ कारकों पर निर्भर करती है जिसमे bank में आपका लेन देन का व्यवहार और bank के साथ आपके कैसे रिश्ते है उस पर निर्भर करता है | जितना लिमिट आपके bank ने आपको ओवरड्राफ्ट के लिए अधिकृत की हुई है उतनी राशी के बराबर के लेन देन आप कर सकते है और महीने के आखिर में उस सुविधा के लिए bank आपसे ब्याज और सरचार्ज के साथ वसूल लेता है |

कुछ और बातें है जो आपको जाननी चाहिए –

-ओवरड्राफ्ट सुविधा को लेने के लिए आपको अपने बैंक में written में एप्लीकेशन देनी होती है |

-ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी के लिए आवेदन करने के बाद bank आपको प्रपोजल भेजता है जिसे 7 दिन की अवधि के अंदर आपको जवाब देना होता है मय दस्तावेज , नही तो बैंक आपके आवेदन को अस्वीकार हो जाता है |

-bank के पास यह अधिकार होता है कि अगर चाहे तो आपके आवेदन को स्वीकार या अस्वीकार कर सकते है |

-एक बार अगर ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी आपको मिल जाती है उसके बाद किसी वजह से अगर आप शर्ते पूरी करने में असफल रहते है तो भी बैंक अपने विवेक से आपकी इस सुविधा को समाप्त कर सकता है |

Image Source – Demo Pic