Home General Knowledge जानिए क्यों विवादित है पेलेट गन का उपयोग ?

जानिए क्यों विवादित है पेलेट गन का उपयोग ?

SHARE

Pellet gun के बारे में आपने आये दिन अख़बारों में सुना ही होगा और यह एक बड़ा मुद्दा है हाल ही का कि सरकार को उपद्रवियों के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहिये या नहीं और यह इतना संवेदनशील हो गया है की सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार से इस बारे में राय और जवाब मांगी है तो चलिए जानते है की आखिर विवादों में रहने वाली ये pellet gun क्या है और कैसे यह काम करती है –

Pellet gun information in hindi

pellet gun असल में दूसरी सारी Guns से अलग एक ऐसी gun है जो जानलेवा नहीं होती है या हम यूँ कहें की इस तरह के हथियार से होने वाली शारीरिक हानि दूसरे किसी तरह के हथियार से होने वाली हानि से कंही कम होती है और दूसरा हिंसक प्रदर्शनों या भीड़ जो बेकाबू हो जाये उस पर प्रशासन के भी हाथ बंधे रहते है और वो उसे शांत करने के लिए या तितर बितर करने के लिए ज्यादा कुछ नहीं कर पाते है |pellet gun in hindi

क्या होती है असल में पेलेट गन – जन्हा आम gun इस तरह काम करती है की फायर करने के बाद सीधा निशाने पर लगती है और चोटिल कर देती है और करीब करीब जानलेवा भी होती है और जिनका इस्तेमाल युद्ध जैसी स्थिति से निपटने के लिए किया जाता रहा है वन्ही pellet gun को फायर करने पर गोली के बजाय छर्रे निकलते है जो रबर या कठोर प्लास्टिक के होते है और चूँकि यह तेजी से शरीर पर लगते है इसलिए फायर करने के बाद जो भी इसका शिकार बनता है उसके शरीर पर गहरे निशान हो जाते है और साथ ही तेज दर्द भी होते है | हालाँकि इसके विवाद में होने का कारण समझ आता है क्योंकि अगर pellet gun से फायर किया जाये तो उस से निकलने वाले छर्रे जो है वो एक ही दिशा में जाने की बजाय फ़ैल जाते है और अगर वो छर्रे किसी संवेदन शील अंग जैसे आँख पर लग जाये तो गहरी चोट हो सकती है या ऐसा भी हो सकता है की आँखों को स्थायी नुकसान हो जाये | हालाँकि इसे फायर करते समय सुरक्षाकर्मी इस बात का ध्यान रखते है कि फायर करते समय उनका निशाना शरीर का नीचे का हिस्सा ही हो लेकिन यह चूँकि सटीक नहीं होती इसलिए हो सकता है की ऊपर के हिस्से में भी इसके छर्रे लग जाये |

अब विवादों की बात करें तो सरकार के हिसाब से जवानों के पास भीड़ को काबू में करने को दूसरा कोई ठोस उपाय नहीं होता है इसलिए अति संवेदनशील इलाको में pellet gun के उपयोग का दूसरा कोई विकल्प नहीं है और ऐसे में अगर इसका उपयोग नहीं किया जाये तो भीड़ सुरक्षाकर्मियों पर टूट पड़ती है और ऐसे कई हादसे हुए है जिसमे बेकाबू भीड़ ने जवानों को चोटिल किया हो या उन्हें पत्थरबाजी करके मार डाला हो |

तो ये है pellet gun information in hindi  और  हमसे hindi में और update पाने के लिए आप हमसे फ्री ईमेल सब्सक्रिप्शन ले सकते है और लाल रंग के घंटे के निशान पर क्लिक करके भी आप हमसे regular updates पा सकते है |

Image Source – IBLIVE