Home General Knowledge ऑनलाइन बैंकिंग करने से पहले जाने ये बात

ऑनलाइन बैंकिंग करने से पहले जाने ये बात

SHARE

Phishing के बारे में बात करें तो अगर आप इन्टरनेट के सक्रिय इस्तेमाल करते है तो इस बारे में आपको जरूर से जानकारी होनी चाहिए क्योंकि इन्टरनेट के इस्तेमाल का चलन जैसे जैसे बढ़ रहा है वैसे ही इन्टरनेट के जरिये होने वाले crimes भी बढ़ रहे है और चूँकि banking भी आजकल इन्टरनेट के माध्यम से हो रही है जिसकी वजह से अगर आप थोड़ी भी असावधानी बरतेंगे तो किसी फ्रॉड का शिकार हो सकते है तो चलिए phishing के बारे में बात करते है जिसके जरिये हैकर आपकी निजी जानकारी को चुराते है –

phishing details hindi

phishing का मतलब है किसी किसी ब्रांड या किसी भी वेबसाइट का जिसका आप रोज इस्तेमाल करते है उस से मिलती जुलती नकली वेबसाइट जो दिखने में ठीक उसके जैसी होती है बनाकर उसे किसी तरह आपके पास ईमेल या किसी और माध्यम से भेज दिया जाता है और ईमेल इस तरह लिखी होती है कि अगर आप उसे ठीक से नहीं पढ़ते है और उस पर क्लिक करते है तो आपसे उस वेबसाइट के लिए जिसका नकली प्रारूप तैयार किया गया है उसका पासवर्ड और details मांगी जाती है | इस तरह के नकली ईमेल में सुरक्षा कारणों का हवाला दिया जाता है और आप फंस जाते है और अपने यूजर आईडी और पासवर्ड आप इंटर कर देते है और ऐसा करते ही आपकी वो detail उस हैकर के पास पहुँच जाती है जिसने वो पेज बनाया है |

phishing detail hindi

उदाहरण के लिए फेसबुक हैकिंग के मामले में किसी यूजर को एक ईमेल प्राप्त होती है जिसमे बताया गया होता है कि “ आपके फेसबुक अकाउंट के साथ छेडछाड हुई है इसलिए इस लिंक पर क्लिक करके उसे सुरक्षित करें “ आप बिना कुछ ज्यादा पढ़े उस पर क्लिक करके अपनी जानकारी दे देते है और आपकी जानकारी हैकर तक पहुँच जाती है |“ असल में समस्या ये है कि हमे फेसबुक या दूसरी sites जैसे bank की तरफ से भी regular ईमेल मिलते है और ऐसे में हैकर इसी का फायदा उठाकर उनसे मिलते जुलते ईमेल के जरिये आपको झांसा देते है |

कैसे पहचाने phishing – आप जब भी अपने bank या पसंद की साईट को जिसका आप रोज इस्तेमाल करते है उसका web address ठीक से याद रखें और साथ ही यह अपने गौर किया होगा कि bank या वो वेबसाइट जो अधिक पॉपुलर है या आपकी निजी जानकारियां सहजने वाली वेबसाइट जो भी है सभी के web address के आगे HTPPS लगा होता है और इसका मतलब यह होता है वो वो वेबसाइट सिक्योर सर्टिफिकेट का इस्तेमाल करती है इसलिए जब भी आपके पास इस तरह के ईमेल आयें तो सबसे पहले –

  • उस वेबसाइट जिस से जुडी जानकारी आपको इंटर करने को कहा गया है उसका URL यानि के web address ठीक से देखें क्या यह वही है ?
  • साथ ही वेबसाइट के आगे HTPPS लगा है या नहीं यह जाँच करलें |
  • किसी भी तरह का ईमेल आने पर तुरंत प्रतिक्रिया देने की बजाय आप उसे पहले ठीक से पढ़ें और जिस ईमेल address से वो ईमेल आया है उसकी जाँच करें कि क्या वह यही जिस address से आपको bank से जुड़े ईमेल आते है |

तो ये है phishing details hindi और अधिक जानकारी के लिए आप नीचे कमेंट कर सकते है या हमसे update पाने के लिए आप हमे फेसबुक पर फॉलो कर सकते है या ईमेल सब्सक्रिप्शन भी ले सकते है |

Image Source – demo