Home Short Stories सुखी कौन – secret of happiness in hindi

सुखी कौन – secret of happiness in hindi

SHARE

Secret of happiness In Hindi – एक कौवा था जो जंगल में रहता था और अपने जीवन में बहुत संतुष्ट था लेकिन जिस दिन से उसने हंस को देखा तो थोडा व्याकुल हो गया और सोचने लग हंस मुझसे कई गुना अधिक सुंदर है और सोचने लगा हंस दुनिया का सबसे सुखी पक्षी होगा |

इस पर काफी दिन सोचने विचारने के बाद उसने एक दिन हंस से हिम्मत करके पुछा कि भाई तुम तो बड़े सुखी और खुश हौंगे क्योंकि तुम कितना सफ़ेद और सुन्दर हो इस पर हंस ने कहा कुछ दिन तो मुझे ऐसे ही लगता था लेकिन अब ऐसा नहीं लगता है क्योंकि जिस दिन से मेने तोते को देखा है तो मेरी गलतफहमी दूर हो गयी है तोता अपने शरीर पर दो रंग लिए है गर्दन के पास लाल रंग की सजावट है जबकि वो गहरे हरे रंग का है तो मेरा भी मन होता है काश मैं भी उतना खूबसूरत होता | और वह कितना मीठा बोलता है तब से मुझे लगता है तोता ही सबसे खूबसूरत है इसलिए वो सबसे सुखी भी है |

यह सुनकर कौवा तोते के पास गया और उस से भी यही सवाल किया इस पर तोता बोला मै भी पहले यही सोचता था लेकिन जब से मेने मोर को देखा है तो लगता है मुझमे तो दो ही रंग है लेकिन मोर में तो कई रंग है और वह खूबसूरत भी मुझसे अधिक है इसलिए मुझे लगता है मोर ही सबसे अधिक सुखी पक्षी है |

यह सुनकर कौवा अब प्राणी संग्रहालय देखने गया उसने देखा वंहा मोर एक पिंजरे में बंद है और बहुत सारे लोग है जो उसे देखने रोजाना आते है | जब सब लोग चले गये तो कौवे ने मोर से कहा मित्र तुम तो अति सुन्दर हो इसलिए तुम सबसे सुखी और बड़े किस्मत वाले भी हो |तुम्हे देखने के लिए रोज हजारों लोग आते है  |

इस पर मोर ने कहा मैं भी पहले यही सोचता था कि पूरी पृथ्वी पर मैं ही सबसे अधिक सुन्दर हूँ लेकिन अब ऐसा नहीं है वास्विकता ये है कि मैं अपनी सुन्दरता के कारण ही यंहा पिंजरे में बंद हूँ असल में किस्मत वाले तो तुम हो क्योंकि पूरी धरती पर तुम एकमात्र ऐसे पक्षी हो जिसे पिंजरे में कैद नहीं किया जाता इसलिए मेरी इच्छा होती है कि काश मैं कौवा होता तो अपनी मन पसंद जगह पर उड़ता हुआ घूमता इसलिए वास्तव में तुम सबसे सुखी पक्षी हो |