Home स्वास्थ्य युवा पीढ़ी में दिल की बीमारी होने के आसार है ज्यादा

युवा पीढ़ी में दिल की बीमारी होने के आसार है ज्यादा

SHARE

Teenagers भी आजकल तरह की बीमारियों के शिकार हो रहे है जो हम normally उम्मीद करते  है ऐसा नहीं होना चाहिए क्योंकि बढती उम्र के साथ health issues होना समझ में भी आता है क्योंकि हमारा immune system और शरीर की बाकि physical गतिविधियाँ कम हो जाती है जिसकी वजह से हमारे सारे अंग उतने active तरीके से कम नहीं करते जितना उन्हें करना चाहिए लेकिन आजकल तो बूढ़े लोगों से अधिक हमारे teenagers अधिक बीमारी के चपेट में आते है और उनकी वजह है केवल और केवल सही lifestyle नहीं होना क्योंकि और कुछ ऐसा नहीं है जो बदला है इतनी बड़ी विकास यात्रा और 100-200 सालों में बस केवल काम का तनाव और जीने के लिए जरूरतों का अधिक होना ही इसकी वजह है कि हमे पहले के मुकाबले कंही अधिक काम करना पड़ता है और कंही अधिक मेहनत करनी होती है अगर हम आगे जाना चाहते है तो इस वजह से कुछ basic problems है जिनका हम ध्यान नहीं रखे और वजह होती है teen age में कुछ बड़ी परेशानियों और health issues का सामना जिसमे heart की बीमारी आम तो चलिए जानते है क्या क्या ऐसी वजहें है जो teenagers में आपको दिल की बीमारी देती है –

Teenager heart disease causes in hindi

  • सबसे पहली जो बात है वो है busy life के चलते teenagers छोटी मोटी health problems को सीरियस नहीं लेते है जैसे जुकाम और छाती में दर्द , पेट में किसी तरह की पाचन सम्बन्धी गड़बड़ जबकि आप अगर गौर करें तो देखेंगे यही सब लक्षण same heart disease के है जबकि आपको इस बारे में सोचना चाहिए पर नहीं जिन्दगी की भागदौड़ में हम ये सब करना भूल ही जाते है और उपहार में हमे heart की परेशानियाँ मिलती ही है |

    Teenager heart disease causes in hindi
    heart disease
  • दूसरा एक अच्छा दिन कैसे शुरुआत करें और एक बेहतरीन दिन को कैसे हम बिता सकते है यह कोई मुश्किल काम नहीं है बशर्ते आप अपनी daily routine में अपने health के लिए भी कुछ प्राथमिकतायें तय करलें |
  • तीसरा जो सबसे बड़ा कारण है heart problems का वो है हमारा खान पान जैसा कि पिछली posts में हमने पढ़ा है कि आज के खान पान और पहले के खान पान में बहुत फर्क आ गया है और इसी वजह से वो जरुरत से अधिक तैलीय पदार्थो का सेवन करते है और heavy foods लेते है जिसकी वजह से health पर खराब असर तो पड़ता ही है और जो समय वो अपने शरीर की देखभाल करने से बचते हुए बचा रहे है जब आपको heart से जुडी problem होती है तो वो सब cover हो जाता है और आपको लगता है काश मैंने पहले से ध्यान दिया होता | जबकि अब चीज़े आपके हाथ में नहीं होती है जब थी तब अपने इस बारे में कुछ भी नहीं किया |
  • इसके बाद में आती है युवा लोग में नशे से जुडी आदते लोग काम का तनाव कम करने के लिए बड़ा अजीब तरीका अपनाते है कुछ सिगरट और कुछ लोग शराब का सहारा लेते है जबकि यह आपके शरीर के साथ साथ आपके दिल के लिए भी सही नहीं है |
  • आजकल करियर और जॉब्स के लिए life में हर चीज़ से अधिक प्राथमिकता teenagers में देखी जा सकती है और इसके लिए तनाव भी | Teenager heart disease होने का मुख्य कारण आप तनाव को मान सकते है |
  • साथ ही उचित व्यायाम नहीं करने के कारण जो भोजन हम लेते है वो पूरा खर्च नहीं होता है जिसकी वजह भी मोटापा और दूसरी तरह की कई सारी बीमारियाँ हो जाती है जो बाद में आपके दिल की बीमारी के रूप में भी सामने आती है |

ऐसे में क्या करें teenagers ?

  • सबसे पहले तो जरुरी है अपने दिन की शुरुआत आप बेहतर तरीके से करें | ऐसा करके Teenager heart disease से बच सकते है |
  • उसके बाद आपको चाहिए कि व्यायाम की आदत डालें और वजन कम करने के बारे में सोचे |
  • Yoga भी सेहत के लिए एक वरदान है आप चाहे तो घर पर ही yoga का अभ्यास कर सकते है साथ ही इसे सीखने के लिए आपके पास बहुत सारे जरिये भी है | टीवी इन्टरनेट और बाबा रामदेव की dvds भी तो आती है | yoga भी Teenager heart disease से बचने में आपके बहुत काम आ सकता है |
  • साथ ही कोशिश करें कि अपने lifestyle में थोड़े बदलाव करें और एक जगह बैठने की आदत को बदलें अगर आपका काम ऐसा है तो आपकी कोशिश होनी चाहिए कि बीच बीच में break लेते रहें |
  • पर्याप्त और एक अच्छी नींद लें और कोशिश करें कि कम से कम टीवी देखें | पर्याप्त नींद आपको Teenager heart disease से बचने के साथ साथ बहुत सी चीज़े आपके लिए बदल देती है |

तो ये है teenager heart disease causes in hindi और हमारी website से hindi में अपडेट पाने क लिए आप हमारे गूगल प्लस page से जुड़ सकते है साथ ही हमसे फ्री ईमेल hindi subscription भी ले सकते है और अगर आपके मन में किसी तरह का कोई सवाल या जानकारी है जो आप हमसे साझा करना चाहते है तो आप [email protected] पर ईमेल कर सकते है या skype पर पूछ सकते है | Skype -Guide2india |

Image Source – Free Images