Home स्वास्थ्य क्या आप वेरोकोस वेंस के शिकार तो नहीं है

क्या आप वेरोकोस वेंस के शिकार तो नहीं है

SHARE

Varicose veins एक टांगो से जुडी बीमारी है जिसमे हमारे पैरो पर नीली नसे हो जाती है और यह सबसे अधिक उन लोगो को होता है जिनकी दिनचर्या ऐसी होती है जिसमे physical activity कम से कम होती है यह मोटे लोगो को भी हो सकता है जो चलने फिरने में आलस करते है और उन लोगो को भी हो सकता है अधिक समय बैठे रहते है और इसी luxry life जीने और कुछ मज़बूरी की वजह से समय नहीं मिल पाने के कारण लोग varicose veins का शिकार हो जाते है जिसके लिए पूरी पूरी हमारी daily routine life ही जिम्मेदार है जिसकी वजह से न केवल varicose veins बल्कि अन्य कई तरह की health issues भी हमारे सामने आते है चलिए varicose veins के बारे में कुछ और बात करते है –

varicose veins information in hindi

Varicose veins क्या होता है –  varicose veins एक तरह से पैरो की health problem है जिसमे आपके पैरों पर नीले रंग की नसें उभर के आती है और यह बिंदिया और चक्क्तो की जैसी दिखने में होती है समय के साथ ये निशान काले और और गहरे भी हो जाते है और अगर थोड़ दूर तक चलने के बाद आपको पैरो में दर्द महसूस होने लगता है या टांगो में चलने के बाद दर्द के साथ उभरी हुई नीले रंग की नसें आपको दिखने लगे तो आप समझ सकते है कि यह Varicose veins ही है |

varicose veins in hindi
varicose veins

Varicose veins का  reason क्या है जानिए – short में तो हमने आपको बता ही दिया है कि इसका कारण आपकी बेकार lifestyle होती है और अगर आप आराम को कुछ ज्यादा ही पसंद करते है या ऐसा होना आपकी मज़बूर है तो देर सबेर आपको चिंता करने की जरुरत तो पड़ेग ही क्योंकि अब खानपान भी पहले जितना सही नहीं रह गया है और work का pressure भी इतना होता है कि हम health के लिए ज्यादा कुछ नहीं सोच पाते है जिसकी वजह से हमे परेशानियाँ आती है और यह इसलिए होता है क्योंकि हमारे पूरे शरीर को सही से काम करने के लिए और उर्जा को हर जगह सामान रूप से वितरित करने में हमारे रक्त का योगदान होता है | हमारे शरीर के सारे अंगो में खून  बड़ तेजी के साथ जाता है और उन्हें पोषक तत्वों के साथ साथ जरुरी oxygen भी मुहेया करवाता है और उसके बाद उसमे oxygen नहीं बचती है तो जरुरी है वो रक्त वापिस दिल में आये और फिर से शुद्ध होकर वही कम करने के लिए लौट जाये लेकिन हमारी बेकार lifestyle के कारण इस क्रिया में बाधा पहुँचती है और जब अशुद्ध रक्त के वापिस उपर लौटने की क्रिया में बाधा होती है तो वो नीचे टांगो की नसों में जमा होने लगता है और इसी से इस रोग की शुरुआत होती है |

इलाज क्या है  Varicose veins का – सबसे पहले तो यह एक समझदारी की बात है कि उपचार से बेहतर बचाव होता है तो बेहतर है आप अपनी दिनचर्या में सुधार करें न केवल Varicose veins से बचने के लिए अपितु अन्य कई तरह की सेहत से जुडी परेशानियों से आप बच जायेंगे |  अगर आपको परेशानी के शुरुरात में इस बारे में पता लग जाता है तो ऐसा नहीं है कि कोई गंभीर इलाज की आपको जरुरत पडती है आपको बस अपनी lifestyle में थोडा change करना पड़त है और इस तरह से उसमे बदलाव करें कि आप सुबह से शाम को कुछ घंटे के लिए शारीरिक गतिविधि जैसे yoga , cycling , या पार्क में घूमने जैसे जरुरी कामों के लिए समय निकल सकें और Yoga से होने वाले फायदों से आजकल कोई अनजान नहीं है जबकि बाहर के देश इसे फॉलो कर रहे है वन्ही जन्हा से इसकी शुरुआत हुई वही हम लोग इसको प्राथमिकता नहीं देते है | उसके अलावा जन्हा हम बैठते है वंहा इस तरह से कम और जगह के बीच में तालमेल setup करें कि आपको एक ही जगह पर अधिक देर तक बैठना नहीं पड़त हो लेकिन  अगर दुकानदार या कोई ऐसा पेशा है जिसमे ये करना आपकी मज़बूर है तो आप सुबह और शाम का वक़् अपनी health के लिए निकाल सकते है |

सर्जरी करवाएं या लेजर – शुरूआती चरण में तो आप दिनचर्या में बदलाव करके ही इस से निजात पा सकते है लेकिन हो सकता है बाद में रोग बढ जाने की दशा में आपको medical ट्रीटमेंट की जरुरत पड़ इसलिए जरुरी है कि आप किसी अच्छे doctor या अस्पताल में जन्हा सारी सुविधाएँ मौजूद हो को अप्रोअच करें और साथ ही आपको बता दे इलाज के लिए medical science के पास दो तरह के विकल्प होते है एक तो है लेजर तकनीक और दूसरा है सर्जरी तो चलिए जानते है सर्जरी और लेजर में क्या फर्क है –

सर्जरी – इसमें शल्य चिकित्सा का सहारा लिया जाता है और मरीज को टाँके भी आते है और उसे कई दिनों तक doctor की देख रेख की जरुरत भी होती है लेकिन लेजर में ऐसा कुछ नहीं होता है और न ही मरीज को टाँके आती है और यह आधुनिक चिकित्सा का ही एक अंग है जिसमे शरीर के अंदर ही समस्या को खत्म कर दिया जाता है और दोनों तकनीक एक ही काम के लिए है बस इनका काम करने का तरीका थोडा अलग होता है | लेजर में same day  आपको घर जाने के लिए डिस्चार्ज किया जा सकता है |

तो ये है Varicose veins के बारे में hindi में पूरी जानकारी जिसमे लक्षण और उपचार के तरीके भी शामिल है और हमारी website से hindi में अपडेट पाने के लिए आप हमारे गूगल प्लस page से जुड़ सकते है साथ ही हमसे फ्री ईमेल hindi subscription भी ले सकते है और अगर आपके मन में किसी तरह का कोई सवाल या जानकारी है जो आप हमसे साझा करना चाहते है तो [email protected] पर ईमेल कर सकते है या skype पर पूछ सकते है | Skype -Guide2india |

Image Source – free images