Home Short Stories शेर को सवा सेर – We should Never Proud of Anything Story

शेर को सवा सेर – We should Never Proud of Anything Story

SHARE

Never Proud of Anything – एक बार एक कुता जंगल में अपना मार्ग भटक गया  | इधर उधर रास्ता खोजने की जद्दोजहद में उसने अचानक देखा कि एक शेर उसकी और आ रहा है | वह डर तो जरूर गया लेकिन फिर भी उसने हिम्मत नहीं हारी और अपना जीवन बचाने के लिए कुछ उपाय सोचने में लग गया | आस पास एक शेर की कुछ हड्डियाँ बिखरी थी तो उसने बिना उसकी  परवाह किये उसकी और पीठ करके बैठ गया और उनमें से एक हड्डी चबाने लगा और कहने लगा शेर के मांस का स्वाद ही कुछ और होता है | बड़ा स्वादिष्ट होता है इसका  का मांस तो | एक शेर और मिल जाये तो मज़ा आ जाये |
कुत्ता जोर से ये बाते बोल रहा था कि शेर को ये सब सुन जाये | शेर ने उसे सुना तो सोचने लगा बड़ा खतरनाक कुत्ता है जन्हा इसे भाग खड़ा होना चाहिए था वंहा है आराम से बैठकर शेर की हड्डियाँ चबा रहा है बड़ा साहसी और खतरनाक दिखता है | इस से जान बचाकर भाग निकलने में चतुराई है |
शेर तुरंत वंहा से निकल गया | इसे कहते है शीघ्र निर्णय और विपरीत परिस्थितियों को स्वीकार करने का सुफल |