Home Computer World WordPress.com और WordPress.org में फर्क क्या है -wordpress tutorial in hindi

WordPress.com और WordPress.org में फर्क क्या है -wordpress tutorial in hindi

SHARE

wordpress tutorial in hindi- अगर आप wordpress पर नये है तो बेशक कई बार ये सवाल उठता है कि आखिर WordPress.com और WordPress.org में फर्क क्या है तो मैं आपको बता दूँ कि दोनों website में एक सबसे बड़ा फर्क ये है कि इनमे  से एक website आपके ब्लॉग को host करती है जिसके लिए तय शुल्क आपको देना pay करना होता है जबकि दूसरी website जो है वंहा से आप wordpress का free software डाउनलोड कर सकते है ताकि आप अपनी मनपसंद hosting space प्रोवाइडर कम्पनी से hosting space लेकर खुद अपनी website host कर सकते है |

wordpress.com : इस website पर आप अपनी पसंद का free ब्लॉग बना सकते है और जबकि आप अगर custom domain पर अपनी website को map करना चाहते है यानि अपनी मनपसन्द नाम की website बनाना चाहते है तो इसलिए लिए आपको निर्धारित शुल्क देकर अपनी website के लिए domain name और hosting space खरीदना होता है |

wordpress.org : जबकि इस website पर जाकर आप wordpress का open source software डाउनलोड कर सकते है और इसके बाद किसी भी अपनी मनपसन्द कम्पनी की hosting space लेकर आप अपना ब्लॉग या website को host कर सकते है |

WordPress.com vs WordPress.org

दोनों तरह के की website को इस्तेमाल करने के अपने फायदे और अपनी limitations है आईये जानते है कैसे

  • अगर आप एकदम free ब्लॉग सेटअप करना चाहते है तो इसके लिए wordpress.com एकदम सही है और इसके लिए आपको कोई शुल्क भी नहीं देना होता लेकिन ये जान लें कि इसके बाद इसमें आप अपनी मनपसन्द theme नहीं लगा सकते और default PHP कोड के अंदर भी कोई editing नहीं कर सकते लेकिन फिर भी बहुत कुछ customise करने के option आप इसमें पाते है जो अगर आप केवल सीखने के purpose से करना चाहते है तो काफी हद तक सही है | इसमें आपको अपने ब्लॉग के नाम के आगे “yourblogname.wordpress.com” लगा हुआ मिलेगा अर्थात आपके ब्लॉग के नाम की सरंचना ऐसी होगी |
  • लेकिन अगर आप custom domain पर अपनी website host करना चाहते है तो wordpress.org आपके लिए सबसे बेस्ट option है और इसमें आप अपनी मर्ज़ी से जो चाहे बदलाव कर सकते है लेकिन इसके लिए आपके पास काफी अच्छा technical knowledge होना आवश्यक है क्योकि custom domain और hosting पर अपनी website सेटअप करना थोडा मुश्किल होता है |

अधिक जानकारी के लिए नीचे कमेन्ट करें |